CM केजरीवाल के सलाहकार का बयान, कहा- ‘मेरे आंखों के सामने हुई थी मुख्य सचिव से मारपीट’

0

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट के मामले में गिरफ्तार सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP) के दोनों विधायकों को कोर्ट से झटका लगा है। गुरुवार (22 फरवरी) को अमानतुल्लाह खान और प्रकाश जारवाल को कोर्ट से जमानत नहीं मिली है। दोनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया गया है। इस बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वी. के. जैन के विरोधाभासी बयान से मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से कथित मारपीट के मामले में नया मोड़ आ गया है।

PHOTO: PTI/New Indian Express

समाचार एजेंसी PTI के हवाले से नवभारत टाइम्स में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने गुरुवार (22 फरवरी) को कोर्ट को बताया कि जैन से हुई पूछताछ के बाद नए तथ्य सामने आए हैं। जैन ने बताया है कि आम आदमी पार्टी के विधायक प्रकाश जारवाल और अमानतुल्ला खान मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को घेरे हुए थे और उनकी आंखों के सामने वरिष्ठ नौकरशाह के साथ मारपीट की गई।

अतिरिक्त सरकारी अभियोजक अतुल श्रीवास्तव ने मेट्रोपॉलिटन मैजिस्ट्रेट शेफाली बरनाला टंडन को यह जानकारी दी।गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्य सचिव ने शिकायत दर्ज कराई है कि AAP के 2 विधायकों ने उनके साथ कथित तौर पर मारपीट की थी। दिलचस्प बात यह है कि इससे पहले जैन ने कहा था कि उन्होंने कुछ नहीं देखा था, क्योंकि सोमवार रात जब यह घटना घटी तब वह वॉशरूम चले गए थे।

AAP विधायकों की कस्टडी लेने की नई अर्जी के साथ अभियोजक ने कहा कि, ‘इस केस में नए तथ्य सामने आए हैं। CM केजरीवाल के सलाहकार से पूछताछ की गई है और CRPC के सेक्शन 164 के तहत उनका बयान दर्ज किया गया है। उन्होंने हमें 4 नाम दिए हैं। ऐसे में पूरे षड्यंत्र से पर्दा हटाने के लिए दोनों विधायकों की पुलिस कस्टडी जरूरी है।’

गौरतलब है कि गुरुवार को ही कोर्ट ने खान और जारवाल को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उन्हें तिहाड़ जेल में ही रहना होगा। कोर्ट ने उनकी जमानत अर्जी पर अपना आदेश शुक्रवार तक के लिए सुरक्षित रख लिया। गुरुवार को सुनवाई के दौरान श्रीवास्तव ने कोर्ट को बताया कि जैन ने सोमवार को रात 8:45 बजे मुख्य सचिव को फोन कर मीटिंग के लिए बुलाया था और रात 10 बजे उन्होंने पुष्टि कर दी थी कि वह मीटिंग में शामिल होंगे।

प्रकाश के वकील राजीव मोहन ने भी पुलिस कस्टडी दिए जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि अधिकारी पर कथित हमला जानबूझकर किया गया और उस समय CM के सलाहकार वहां मौजूद थे। गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की शिकायत पर दर्ज एफआईआर में अमानतुल्लाह मुख्य आरोपी हैं। उन्होंने बुधवार को पुलिस के सामने सरेंडर किया था।

AAP ने दबाव डालकर बयान बदलवाने का लगाया आरोप

वहीं इस मामले में आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि दिल्ली सरकार को गिराने की साजिश हो रही है। AAP के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के सलाहकार वी. के. जैन पर दबाव डालकर बयान बदलवाया गया है। आम आदमी पार्टी ने कहा कि वीके जैन ने पुलिस के सामने कुछ और बयान दिया था, अब दूसरा बयान दबाव देकर दिलवाया गया है।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here