दिल्ली: चीफ सेक्रेटरी ने CM केजरीवाल के आवास पर AAP के दो विधायकों पर लगाया धक्का-मुक्की करने का आरोप, बदसलूकी के विरोध में हड़ताल पर गए IAS अधिकारी

0

आम आदमी पार्टी (आप) के दो विधायकों पर दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के साथ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर बदसलूकी और धक्का-मुक्की करने का आरोप लगा है। आरोप है कि मुख्यमंत्री आवास में सीएम केजरीवाल के लोगों द्वारा चीफ सेक्रेटरी के साथ धक्का-मुक्की की गई। हालांकि सीएम केजरीवाल के ऑफिस ने ऐसी किसी भी घटना से साफ इनकार किया है।

केजरीवाल
FILE PHOTO

ऐसी खबरें हैं कि चीफ सेक्रेटरी के साथ सभी के सामने बदतमीजी की गई और उन्हें धक्का दिया गया। साथ ही अभद्र शब्द कहे गए। यह सबकुछ मुख्यमंत्री केजरीवाल की मौजूदगी में हुआ, जिसकी वजह से दिल्ली सरकार को विपक्ष का तगड़ा विरोध भी झेलना पड़ रहा है। हालांकि दिल्ली सरकार ने इन आरोपों को खारिज किया है।

आप का आरोप है कि अधिकारी सीएम और विधायकों के सवालों का जवाब नहीं दे रहे थे। उन्होंने एलजी के प्रति जवाबदेही के बात कहकर जवाब नहीं दिया। अब बाहर जाकर बीजेपी के इशारे पर यह सब कर रहे हैं। AAP ने आरोप लगाया कि उल्टे चीफ सेक्रेटरी ने कुछ विधायकों के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया और बिना सवालों का जवाब दिए वहां से चले गए। पार्टी ने आरोप लगाया कि चीफ सेक्रेटरी बीजेपी की तरफ से यह आरोप लगा रहे हैं।

NDTV की रिपोर्ट के मुताबिक, आरोप फिजिकली असॉल्ट का है। बताया जा रहा है कि यह घटना सोमवार देर रात की है। कहा जा रहा है कि आम आदमी पार्टी के दो विधायकों ने केजरीवाल के इशारे पर की चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश से बदतमीजी और धक्का मुक्की की है।

NDTV के मुताबिक इस मामले को लेकर चीफ सेक्रेटरी रात में ही दिल्ली के उपराज्यपाल से मिले हैं। अब आईएएस एसोसिएशन इस बदतमीजी के खिलाफ बैठक कर रही है। एसोसिएशन सीएम अरविंद केजरीवाल और दो विधायकों के खिलाफ एफआीआर दर्ज करने की मांग कर रही है। कहा जा रहा है कि तीन साल केजरीवाल के विज्ञापन को लेकर हुई खींचतान में मुख्य सचिव के साथ बदसलूकी की गई है।

वहीं, न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक मीटिंग के दौरान केजरीवाल सरकार में ओखला से विधायक अमानतुल्लाह खान ने शिकायत की कि राशन की दुकानों पर मशीन लगने के चलते ढाई लाख परिवारों को पिछले महीने से राशन नहीं मिला है। इस पर चीफ सेक्रेटरी ने कहा दिया कि वो इन सभी सवालों का जवाब एलजी को देंगे। इसके बाद तीन साल केजरीवाल वाले विज्ञापन का मामला उठा और बहस शुरू हो गई। मामला बढ़ गया और आप के दो विधायकों ने बदतमीजी की।

इस घटना के बाद विपक्ष ने भी केजरीवाल सरकार के खिलाफ हमलावर रुख अख्तियार कर लिया है। इस मामले में दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने केजरीवाल से माफी मांगने की मांग की है। वहीं, बीजेपी ने केजरीवाल सरकार को अराजक करार देने के बाद राजधानी में राष्ट्रपति शासन की मांग कर रही है। उधर घटना पर विरोध जताते हुए दिल्ली में IAS एसोसिएशन ने हड़ताल पर जाने का ऐलान कर दिया है।

नवभारत टाइम्स के मुताबिक इस मामले पर आईएएस संगठन बैठक की है और इस बारे में एलजी से शिकायत किया। IAS एसोसिएशन ने आरोपी विधायकों की गिरफ्तारी की मांग की है। कार्रवाई होने तक अधिकारी हड़ताल पर चले गए हैं। असोसिएशन ने आरोप लगाया कि दिल्ली में संवैधानिक संकट का माहौल है। वहीं, चीफ सेक्रेटरी इस मामले में पुलिस केस दर्ज करवाने की तैयारी कर रहे हैं। खबरें हैं कि केस दर्ज करवाने से पहले चीफ सेक्रेटरी एलजी से मंजूरी और राय-मशविरा करने के लिए उनसे मुलाकात करने पहुंचे हैं।

मुख्य सचिव ने पुलिस को दिया शिकायत पत्र, राजनाथ सिंह ने मांगी रिपोर्ट

इस बीच इस मामले में दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने पुलिस को दिया शिकायत पत्र दिया है। इससे पहले मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ बीती रात मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री की मौजूदगी में विधायकों ने बदसलूकी और धक्कामुक्की की, जिसके बाद मुख्य सचिव ने रात में ही एलजी से मिलकर इसकी शिकायत की थी।

वहीं दूसरी तरफ दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ मारपीट की घटना के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस घटना पर दुख जताते हुए कहा कि मैं इस घटना से बहुत दुखी हूं। राजनाथ सिंह ने कहा कि गृह मंत्रालय ने एलजी से घटना की रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि मामले में इंसाफ किया जाएगा, आईएएस डैनिक्स एंड सबऑर्डिनेट सर्विसेज के प्रतिनिधि मंडल से मेरी मुलाकात हुई है और उन्होंने मुझे इस पूरी घटना की जानकारी दी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here