दिल्ली: AAP छोड़कर BJP में शामिल हुए विधायक अनिल बाजपेयी और देवेंद्र सहरावत को स्पीकर ने अयोग्य घोषित किया

0

दिल्ली विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल ने गुरुवार को दल-बदल कानून के तहत आप के दो बागी विधायकों अनिल बाजपेयी और देवेंद्र सेहरावत को अयोग्य करार दिया। बता दें कि, यह दोनों विधायक इस साल की शुरुआत में आम आदमी पार्टी (आप) का साथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) में शामिल हो गए थे।

दिल्ली

बता दें कि, अभी हाल ही में दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल ने बागी आम आदमी पार्टी (आप) के बागी विधायक कपिल मिश्रा को दल-बदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य घोषित किया था। उन्होंने कहा कि था कि लोकसभा चुनाव में भाजपा एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में उनके चुनाव प्रचार से इस बात के संकेत मिलते हैं उन्होंने ‘‘अपनी मूल राजनीतिक पार्टी की सदस्यता’’ छोड़ दी है।

कपिल मिश्रा उत्तर-पूर्वी दिल्ली के करावल नगर से आम आदमी पार्टी के विधायक थे। कपिल मिश्रा केजरीवाल सरकार में मंत्री भी रहे लेकिन मई 2017 में उनको मंत्री पद से हटा दिया गया। उसके बाद से वह सार्वजनिक मंचों पर पीएम मोदी के मुखर समर्थक के रूप में नजर आते हैं।

गौरतलब है कि, दिल्ली में होने वाले लोकसभा चुनाव से ठिक पहले AAP विधायक अनिल वाजपेयी के बाद बागी पार्टी विधायक देवेंद्र कुमार सेहरावत भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हो गए थे। सेहरावत ने 6 मई को केंद्रीय मंत्री विजय गोयल की उपस्थिति में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। अनिल वाजपेयी भी केंद्रीय मंत्री विजय गोयल की उपस्थिति में ही बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की थी। जिसके बाद आम आदमी पार्टी ने भाजपा पर खरीद-फरोख्त कर विधायक को शामिल कराने का आरोप लगाया था।

देवेंद्र सहरावत ने 2015 के विधानसभा चुनावों में बिजवासन से AAP के टिकट पर चुनाव लड़ा था। साल 2018 के सितंबर में पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से आम आदमी पार्टी ने अपने विधायक देवेंद्र सेहरावत को प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था। सेहरावत ने पंजाब में पार्टी के लोगों पर टिकट के लिए महिलाओं का शोषण करने का आरोप लगाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here