दिल्ली से देर रात हाथरस पहुंचा गैंगरेप पीड़िता का शव, भारी हंगामे और विरोध के बीच यूपी पुलिस ने रातोंरात कराया अंतिम संस्‍कार

0

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का शव मंगलवार देररात दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल से उनके गांव पहुंचा, जहां पीड़िता के शव को लेकर गांव वालों ने भारी हंगामा और विरोध प्रदर्शन किया। इस बीच, यूपी पुलिस ने भारी हंगामे और विरोध प्रदर्शन के बीच पीड़िता का रातों-रात अंतिम संस्कार कर दिया गया। वहीं, अधिकारियों का कहना है कि घर वालों की मर्जी से ही अंतिम संस्‍कार किया गया है पर मौके के जो वीडियो और तस्‍वीरें सामने आई हैं, उससे तो यही लग रहा कि पुलिस ने बलपूर्वक अंतिम संस्‍कार किया है।

हाथरस

जानताकी के मुताबिक, देर रात पीड़िता का शव हाथरस पहुंचा था और गांव वाले शव का अंतिम संस्कार आधी रात को करने को तैयार नहीं थे। वहीं, पुलिस ने परिवार और गांववालों की मनाही के बावजूद आनन-फानन में देर रात को पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया। जिसके बाद पुलिस और गांव वालों के बीच बहस हो गई। भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है। यूपी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने उत्‍तर प्रदेश पुलिस की इस हरकत को कायराना बताया है।

कांग्रेस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है- निर्दयता की हद है ये। जिस समय सरकार को संवेदनशील होना चाहिए उस समय सरकार ने निर्दयता की सारी सीमाएं तोड़ दी। आम आदमी पार्टी ने भी अंतिम संस्‍कार का वीडियो अपने फेसबुक पेज पर डाला है।

गौरतलब है कि, यूपी के हाथरस में दलित युवती के साथ निर्भया जैसी हैवानियत पर सियासत गरमा गई है। सोशल मीडिया पर लोगों का आक्रोश झलक रहा है। दिल्ली के जिस सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता ने आखिरी सांस ली, उसके बाहर प्रदर्शन हुआ, कैंडल मार्च निकला। यूपी में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग हो रही है। कांग्रेस ने इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘खामोशी’ पर सवाल उठाया है।

वहीं, राहुल गांधी ने तो यूपी में एक वर्ग विशेष का जंगलराज होने का आरोप लगाया है। समाजवादी पार्टी, बीएसपी, आम आदमी पार्टी, भीम आर्मी जैसे समेत तमाम राजनीतिक दल और संगठन बीजेपी सरकार के खिलाफ आक्रामक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here