DDCA लोकपाल ने रजत शर्मा को अध्यक्ष पद पर बने रहने का दिया आदेश

0

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के लोकपाल अवकाश प्राप्त न्यायाधीश बी डी अहमद ने रविवार को निलंबित महासचिव विनोद तिहारा को दोबारा पद पर बहाल किए जाने पर रोक लगाते हुए वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा को अध्यक्ष पद पर बने रहने का आदेश दिया।

लोकपाल
फाइल फोटो: रजत शर्मा

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, डीडीसीए लोकपाल न्यायाधीश बी डी अहमद ने अपने निर्देश में कहा है कि अध्यक्ष की शक्तियां वापस लेने के लिए पारित प्रस्ताव में प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया गया है और तिहारा का निलंबन वापस नहीं हो सकता है क्योंकि यह मामला लोकपाल के पास लंबित है।

बता दें कि, वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने बिना किसी का नाम लिए लगातार जारी ‘‘खींचतान और दवाब’’ के बीच अपनी असमर्थता जताते हुए शनिवार को पद से त्यागपत्र दे दिया था। रजत शर्मा जुलाई 2018 में इस पद के लिए चुने गए थे।

रजत शर्मा ने एक बयान में कहा था कि, ‘‘यहां क्रिकेट प्रशासन हर समय खींचतान और दबावों से भरा होता है। मुझे लगता है कि यहां निहित स्वार्थ हमेशा क्रिकेट के हितों के खिलाफ सक्रिय रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा लगता है कि डीडीसीए में निष्ठा, ईमानदारी और पारदर्शिता के सिद्धांतों के साथ चलना संभव नहीं है जिनसे कि मैं किसी भी कीमत पर समझौता नहीं करूंगा।’’ शर्मा पूर्व वित्त मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली का समर्थन मिलने पर क्रिकेट प्रशासन से जुड़े थे।

गौरतलब है कि, रजत शर्मा ने डीडीसीए अध्यक्ष रहते दिल्ली के ऐतिहासिक स्टेडियम फिरोजशाह कोटला का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम रखने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मंजूरी भी मिली थी और नाम बदला गया था। बता दें कि दिवंगत पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली और पत्रकार अरुण जेटली अच्छे मित्र थे। इसके अलावा अरुण जेटली DDCA के लंबे समय तक अक्ष्यक्ष रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here