भाजपा के निष्कासित नेता दयाशंकर की मायावती को चुनौती, स्वाति के सामने लड़कर दिखाएं चुनाव

0

भाजपा के निष्कासित नेता दयाशंकर सिंह ने आज जेल से रिहा होने के बाद बसपा प्रमुख मायावती पर फिर हमला बोलते हुए उन पर टिकट ‘‘बेचने’’ का आरोप लगाया। इसके साथ ही सिंह ने उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में किसी सामान्य सीट पर उनकी पत्नी के खिलाफ मैदान में उतरने की बसपा प्रमुख को चुनौती दी।

भाषा में छपी खबर के मुताबिक दयाशंकर सिंह ने मायावती के खिलाफ आरोपों की सीबीआई से जांच कराने की मांग की और कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो वह इस मुद्दे पर जनहित याचिका दाखिल करेंगे।

Also Read:  छत्तीसगढ़ में लोग दिवाली मनाने केलिए मवेशी बेचने को मजबूर
Photo: NDTV
Photo: NDTV

सिंह को मायावती के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में पिछले महीने गिरफ्तार किया गया था। उन्हें एक स्थानीय अदालत से जमानत मिलने के एक दिन बाद आज मउ जेल से रिहा कर दिया गया।

उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने बिहार पुलिस की मदद से 29 जुलाई को सिंह को बक्सर जिले में गिरफ्तार किया था।

Also Read:  मोदी सरकार ने रद्द किए 20,000 NGO के FCRA लाइसेंस, केवल 13 हजार को ही मान्यता

सुबह जेल से रिहा होने के बाद दयाशंकर सिंह ने एक मंदिर में पूजा अर्चना की और उसके तुरंत बाद लखनउ के लिए रवाना हो गए जहां उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने बयान पर दृढ़ हूं कि मायावती टिकट बेचती हैं। उस समय मैंने एक शब्द का उपयोग किया जिसको लेकर मैंने उसी दिन खेद जताया था।’’सिंह ने मायावती को अपनी पत्नी के खिलाफ किसी भी सीट से चुनाव लड़ने की चुनौती दी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं मायावती को चुनौती देता हूं कि वह चुनाव लड़ने के लिये कोई भी सामान्य सीट चुन लें और मेरी पत्नी के खिलाफ चुनाव लड़ें। बसपा नेता को वास्तविकता का पता चल जाएगा।’’ सिंह ने चुनावों में पार्टी टिकटों को कथित तौर पर ‘‘नीलाम’’ किए जाने की सीबीआई से जांच कराने की मांग की।

Also Read:  VIDEO: तेजस्वी यादव के सुरक्षाकर्मियों और समर्थकों ने पत्रकारों से की मारपीट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here