राजस्‍थान: बाड़मेर में मुस्लिम महिला से कथित प्रेम-प्रसंग को लेकर दलित शख्स की पीट-पीट कर हत्या, 2 गिरफ्तार

0

देश में दलितों पर अत्याचार का सिलसिला रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। इसी बीच, राजस्‍थान के बाड़मेर जिले में एक दलित शख्स की कथित रूप से पीट-पीटकर हत्‍या कर देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबिक, बताया जा रहा है कि इस शख्स का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने कथित तौर पर एक मुस्‍लिम महिला से प्‍यार किया था। पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

mob lynch
representational image

बाड़मेर में अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक रामेश्‍वरलाल मेघवाल, ने बताया कि जांच में सामने आ रहे तथ्य घटना के पीछे प्रेम प्रंसग की तरफ इशारा कर रहे हैं। इस बीच पुलिस नें इस मामलें के मुख्‍य आरोपी अमर खान की तलाश तेज कर दी है। बताया जा रहा है कि दलित युवक के साथ मारपीट करने के बाद अमरखान ने उसका गला घोंटा था।

रामसर के SHO ने जनता का रिपोर्टर से बातचीत में कहा, “यह घटना 21 जुलाई की सुबह की है। खेताराम भील नाम के मृतक दलित युवक के भाई ने एफआईआर लिखवाई है जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि जो आरोपी मुस्लिम के खेत में जो उनका ईट का भट्टा था उसे हड़पने की नियत की भाई को बुलाए और उनके साथ मारपीट की जिससे उनकी मौत हो गई। उन्होंने एफआईआर 10 से अधिक लोगों पर मारपीट का आरोप लगाया है। इसमें एक महिला का भी नाम शामिल है।”

उन्होंने आगे कहा, “मामले की शुरूआती जांच के दौरान सोमवार को दो आरोपियों पठाई खान (28) और अनवर खान (40) को गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद दोनों आरोपियों को मंगलवार को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें सात दिन की पुलिस रिमांड पर सौंपा गया है। प्रारंभिक पुलिस जांच के दौरान यह सुनियोजित हत्‍या का मामला लग रहा है। उन्‍होंने बताया कि दो आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस शेष आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है।”

संदू ने बताया, “इस मामले को एससी एसटी एक्ट के तहत जांच किया जा रहा है। हालांकि पुलिस जांच में यह प्रेम प्रसंग का मामला सामने आ रहा है। जांच के मुताबिक दलित युवक का मुस्लिम युवती से कथित तौर पर प्रेम-प्रसंग चल रहा था। यह बात लोगों को रास नहीं आई और उसकी पीट-पीटकर जान ले ली। दोनों की शादी हो चुकी है।” उन्होंने बताया कि प्रारंभिक पुलिस जांच के दौरान यह सुनियोजित हत्‍या का मामला लग रहा है। उन्‍होंने बताया कि दो आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस शेष आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है।

समाचार एजेंसी भाषा के हवाले से एक न्यूज़ वेबसाइट में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, चौहटन क्षेत्राधिकारी सुरेन्‍द्र कुमार ने बताया कि घटना के दिन ही पीड़ित परिवार की रिपोर्ट के आधार पर संदिग्‍धों को हिरासत में लिया गया था। उन्‍होंने बताया कि मामले की जांच के दौरान सोमवार को दो आरोपियों पठाई खान (28) और अनवर खान (40) को गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद दोनों आरोपियों को मंगलवार को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें सात दिन की पुलिस रिमांड पर सौंपा गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, बीती शुक्रवार रात को रामसर थानान्तर्गत मेकरनवाला गांव में एक दलित युवक की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्‍या कर दी गयी थी। मृतक की शिनाख्त खेताराम भील के रूप में की गयी थी। रिपोर्ट के मुताबिक, बताया जा रहा है कि 22 साल के इस दलित युवक का मुस्लिम युवती से कथित तौर पर प्रेम-प्रसंग चल रहा था। यह बात भीड़ को रास नहीं आई और उसकी पीट-पीटकर जान ले ली।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इस घटना पर ट्वीट करते हुए लिखा, ‘बाड़मेर में दलित की पीट पीट कर हत्या की गई उसकी मैं निंदा करता हूँ। शासन को इस प्रकार की Lynching की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए सख़्त क़ानून बनाना चाहिए। जनता को क़ानून अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए।’

गौरतलब है कि इस समय मॉब लिंचिंग को लेकर संसद से लेकर सड़क तक घमासान मचा हुआ। लेकिन इसके बावजूद ऐसी घटनाओं पर रुकने का नाम ही नहीं ले रहीं है। बता दें कि अभी हाल ही में राजस्थान के अलवर जिले में एक मुस्लिम युवक को कथित गो-तस्करी के आरोप में पीट-पीटकर भीड़ ने मौत के घाट उतार दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here