गुजरात: गरबा देखने गए दलित युवक को पीट-पीटकर मार डाला

0

गुजरात में दलितों पर कथित तौर अत्याचार की घटनाओं और उनके साथ भेदभाव व उत्पीड़न का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है, जिसका ताजा मामला एक बार फिर से देखने को मिला है। गरबे में आए गुजरात के आणंद जिले में एक दलित युवक को कथित तौर पर ऊंची जाति के लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला। दलित जाति के लोगों को गरबे में शामिल होने की इजाजत नहीं ऐसा कहकर उसे बुरी तरह से मारा। इस मामले में पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है, मामले की जांच चल रही है।

दलित
प्रतिकात्मक फोटो

भाषा की ख़बर के मुताबिक, गुजरात के आणंद जिले में रविवार(1 अक्टूबर) एक गरबा आयोजन में शामिल होने पर सवर्ण पटेल समुदाय के लोगों के एक समूह ने 21 वर्ष के युवक को बेरहमी से पीटकर मार डाला। इस बात की जानकारी पुलिस ने रविवार को दी। हत्या के इस मामले में आठ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है, यह घटना तडके चार बजे के करीब हुई।

पुलिस ने इस घटना के संबंध में दायर शिकायत का हवाला देते हुए कहा कि जयेश सोलंकी, उसका रिश्तेदार प्रकाश सोलंकी और दो अन्य दलित व्यक्ति भद्रानिया गांव में एक मंदिर के बगल में स्थित घर के पास बैठे थे। उस वक्त वहां गरबे का आयोजन हो रहा था, तभी एक शख्स ने उनकी जाति के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की।

ख़बर के मुताबिक, भद्रान पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा कि आरोपी ने कहा कि दलितों को गरबा देखने का अधिकार नहीं है। उसने जातिवादी टिप्पणी की और कुछ लोगों को मौके पर आने को कहा। अधिकारी ने कहा कि ऊंची जाति के लोगों ने कथित तौर पर दलितों की पिटाई की और जयेश का सिर एक दीवार पर दे मारा, इसके बाद उसकी हालत गंभीर हो गई। जयेश को करमसाड में एक अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अधिकारी ने कहा, हमने आठ लोगों के खिलाफ हत्या और ज्यादती निरोधक अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की है। पुलिस उपाधीक्षक (अनुसूचित जातिाजनजाति प्रकोष्ठ) ए एम पटेल ने कहा कि यह पूर्व-नियोजित हमला नहीं लगता।

बता दें कि, यह कोई पहली बार नहीं है कि गुजरात में किसी दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई हो। गौरतलब है कि, पिछले साल ऊना में मरी गाय की खाल निकालने पर चार दलितों की बेरहमी से पिटाई की गई थी। जिसके बाद यह घटना आग की तरह फैल गई थी। इसके विरोध में दलितों ने गुजरात के सरकारी कार्यालयों के सामने मरी गायें डाल दी थीं। साथ ही गुजरात समेत देशभर में इस घटना के विरोध में प्रदर्शन हुए थे।

अभी हाल ही में गुजरात की राजधानी गांधीनगर से महज 15 किलोमीटर की दूरी पर कुछ लोगों ने कथित रूप से 24 वर्षीय एक दलित युवक के साथ मारपीट की थी क्योंकि उसने स्टाइलिश मूंछ रखी थी। युवक की शिकायत के बाद पुलिस ने उत्पीड़न के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है, फिलहाल पुलिस इस मामले की भी जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here