CRPF जवान ने राजनाथ सिंह से कहा- अगर थोड़ी भी शर्म है तो उन्हें जवानों को श्रद्धांजलि नहीं देनी चाहिए

0

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सोमवार (24 अप्रैल) को नक्सलियों ने एक बड़े हमले को अंजाम दिया, जिसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 25 जवान शहीद हो गए। इस हमले से आहत के बाद पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में तैनात सीआरपीएफ की बटालियन 221 के जवान पंकज मिश्रा ने गुरुवार (27 अप्रैल) को फेसबुक पर वीडियों के जरिए गृह मंत्री राजनाथ सिंह पर निशाना साधा।

सीआरपीएफ

वीडियो में उन्होंने कहा, ”राजनाथ सिंह जी आप अच्छे नेता साबित नहीं हो रहे हैं। आप ही के राज में सीआरपीएफ के जवान लाठी खा रहे हैं। आप ही के राज में जवान शहीद हो रहे हैं। यही सीआरपीएफ जवान राजनाथ और अमित शाह जैसे नेताओं को X, Y और Z कैटेगरी की ड्यूटी देते हैं।”

Also Read:  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नतीजे LIVE: क्या UP में खत्म होगा BJP का 'वनवास'? 

इतना ही नहीं जवान ने आगे कहा कि, “राजनाथ सिंह जैसे नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुमराह कर रहे हैं। ” उन्होंने गृह मंत्री से सैनिकों के घर जाने का आग्रह किया है। पंकज ने कहा “अगर आप वास्तव में उनके साथ सहानुभूति जताना चाहते हैं तो आपको ऐसा करना चाहिए। यही उनके लिए सबसे बड़ा मरहम होगा।”

Nai-post ni Pankaj Mishra noong Lunes, Abril 24, 2017

साथ ही पंकज मिश्रा का कहना है कि, छत्तीसगढ़ में सड़क बनाने में सहयोग के लिए जवानों को लगाया जाता है। जवान शहीद होते हैं और सड़क के लिए वाहवाही सरकार की होती है। पंकज का कहना है कि राजनाथ सिंह में थोड़ी भी शर्म है तो उन्हें जवानों को श्रद्धांजलि नहीं देना चाहिए, बल्कि उन्हें शहीद जवानों के घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि देना चाहिए।

Also Read:  अदालतों को अपना फैसला हिन्दी या क्षेत्रीय भाषाओं में सुनाना चाहिए : मनोहर लाल खट्टर

पंकज मिश्रा वर्ष 2013 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे, वीडियो में वो यूनिफॉर्म पहने ही नज़र आ रहे हैं। पंकज मिश्रा का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। हालांकि इससे पहले सोशल मीडिया पर वीडियो डालने की वजह से बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव को बर्खास्त कर दिया गया था।

Also Read:  पंजाब में इंसानियत शर्मसार: दलित लड़के की टांग काटकर ले गया शराब माफिया, मौत

तेज बहादुर ने वीडियो के ज़रिए जवानों को घटिया खाना देने का आरोप लगाया था। बता दें, तीन दिन पहले सोमवार (24 अप्रैल) को छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ कैंप पर नक्सलियों ने हमला किया था। इसमें सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here