600 करोड़ रुपये के रिश्वत मामले में BJP के पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी और उनके करीबी सहयोगी अली खान को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

0

600 करोड़ रुपये के कथित रिश्वत लेने के मामले में जांच का सामना कर रहे बीजेपी सरकार में कर्नाटक के पूर्व मंत्री रहे एवं प्रसिद्ध खनन उद्योगपति जी. जर्नादन रेड्डी को रविवार (11 नवंबर) को सेंट्रल क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले तीन दिन तक गायब रहने के बाद जर्नादन रेड्डी शनिवार (10 नवंबर) को पोंजी घोटाले के सिलसिले में अपराध शाखा के सामने पूछताछ के लिए पेश हुए।

हालांकि उन्होंने आरोपों को ‘राजनीतिक साजिश’ करार देकर उनसे इनकार किया। पुलिस के हिसाब से फरार चल रहे रेड्डी अपने वकीलों के साथ कार से केंद्रीय अपराध शाखा कार्यालय पहुंचे। अपराध शाखा ने एक दिन पहले ही उन्हें 11 नवंबर तक पेश होने के लिए नोटिस जारी किया था। कर्नाटक में चर्चित खनन कारोबारी और बीजेपी नेता जी जनार्दन रेड्डी पोंजी घोटाले में कथित तौर पर 600 करोड़ रुपये के लेनेदेन के मामले में पुलिस की जांच के घेरे में आ गए हैं।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, सेंट्रल क्राइम ब्रांच ने बीजेपी नेता जी जनार्दन रेड्डी के साथ-साथ उनके करीबी सहयोगी अली खान को भी गिरफ्तार कर लिया है। क्राइम ब्रांच रेड्डी के करीबी सहयोगी अली खान की भी तलाश कर रही थी। खान ने पोंजी योजना में शामिल रहने की आरोपी कंपनी अंबिडेंट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के सैयद अहमद फरीद के साथ 20 करोड़ रुपये का सौदा किया था ताकि उन्हें प्रवर्तन निदेशालय की जांच से बचाया जा सके। इस कंपनी पर पोंजी स्कीम में शामिल होने का आरोप है।

सेंट्रल क्राइम ब्रांच के एडिशन सीपी आलोक कुमार ने कहा कि पुख्ता सबूत और गवाहों के बयान के आधार पर हमने जनार्दन रेड्डी गिरफ्तार की फैसला किया है। क्राइम ब्रांच ने रेड्डी की गिरफ्तारी के लिए बेल्लारी स्थित उनके आवास पर छापेमारी भी की थी। इससे पहले उन्होंने किसी अज्ञात स्थान से वीडियो जारी कर कहा था कि वह केंद्रीय अपराध शाखा के सामने पेश होंगे।

अपने वीडियो संदेश में रेड्डी ने कहा था कि वह भाग नहीं रहे हैं और शहर में ही हैं। उन्हें भागने की कोई जरुरत भी नहीं है। टेलीविजन चैनलों पर प्रसारित संदेश में उन्होंने कहा था, ‘मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है। पुलिस के पास यह साबित करने के लिए एक भी सबूत नहीं है कि मैं गलत हूं। वह मीडिया को गुमराह कर रही है।’

आपको बता दें कि केंद्रीय अपराध शाखा ने फरार चल रहे खनन कारोबारी गली जनार्दन रेड्डी को 11 नवंबर तक पेश होने का शुक्रवार को नोटिस जारी किया। इस नोटिस से एक दिन पहले ही रेड्डी के बेल्लारी स्थिति आवास पर छापेमारी हुई थी। रेड्डी पोंजी योजना में कथित तौर पर करोड़ों रुपये की लेनदेन में वांछित हैं। केंद्रीय जांच शाखा (सीसीबी) अब रेड्डी के करीबी सहयोगी अली खान की तलाश में है।

रेड्डी के वकील सी एच हनुमंथारैया ने शुक्रवार को अग्रिम जमानत याचिका की अपील की थी। रेड्डी ने बताया था कि रेड्डी शनिवार को इस पर फैसला करेंगे कि वह सीसीबी के समक्ष उपस्थित होंगे या नहीं। इसी बीच रेड्डी ने कर्नाटक हाईकोर्ट में दो याचिका दायर की है। पहली याचिका रेड्डी पर प्राथमिकी खत्म करने की है। याचिका में कहा गया है कि उन पर लगे आरोप आधारहीन हैं। वहीं, दूसरी याचिका मामले की जांच से दो पुलिस अधिकारियों को हटाने के लिए है।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here