गौ तस्करी के विरोध में थाने में बवाल, एक की मौत

0

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के नरही थाना के बाहर समर्थकों के साथ शुक्रवार को दोपहर बाद धरने पर बैठे भाजपा विधायक उपेंद्र तिवारी और पुलिस में देर रात झड़प के बाद लाठीचार्ज और गोली चलने से एक विधायक समर्थक की मौत हो गई, जबकि एक दर्जन घायल हो गए।

पुलिस ने आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है। विधायक थाने पर गायों और ट्रक को पकड़े जाने के विरोध में धरना दे रहे थे। रात हंगामा होने और लाठीचार्ज के दौरान विधायक को भी चोट आई और वह थाने में हैं। पुलिस महानिरीक्षक एस के भगत ने गोली चलने या किसी को गोली लगने से इनकार किया है।

Also Read:  खुले में पेशाब करने से रोकने पर ई-रिक्शा चालक की बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या
Photo: Cobrapost
Photo: Cobrapost

देर रात डीआईजी धर्मवीर यादव घटना स्थल पर पहुंच गए तथा अधिकारियों एवं स्थानीय लोगों से बात की। रात करीब साढ़े दस बजे कई थानों की फोर्स नरही थाने पर पहुंचने के बाद पुलिस की विधायक एवं उनके समर्थकों से झड़प हो गई।

Also Read:  त्रिपुरा के राज्यपाल ने RSS के चश्मे से पढ़ा विधानसभा में अपना भाषण, मोदी सरकार में हुई सांप्रदायिकता और नोटबंदी वाले हिस्से को नहीं पढ़ा

इसके बाद पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया। इसी दौरान वहां गोली भी चली जिसमें विधायक समर्थक और नरहीं गांव निवासी विनोद राय (35) की मौत हो गई। एक महिला समेत दर्जन भर से अधिक लोग जख्मी हो गए।

लाठीचार्ज और गोली चलने से थाने के बाहर भगदड़ मच गई। पुलिस विनोद राय के शव को थाने के अंदर ले गई तथा बाद में पोस्टमार्टम हाउस भिजवाया। इसके अलावा लाठीचार्ज से जख्मी कई लोग भी इलाज के लिए अस्पताल पहुंचे।

Also Read:  दलितों को साबुन बांटने के विरोध में दलित संगठन CM योगी को देगें 16 फीट लंबा साबुन, कहा- उन्हें खुद को स्वच्छ करने की जरूरत है

इससे पहले नरही पुलिस ने सुबह गो-वध तस्करी में पांच गायों और एक ट्रक को पकड़ लिया था। भाजपा विधायक का आरोप है कि पुलिस ने तस्करी के लिए जा रहे गायों को नहीं बल्कि एक पशु पालक की निजी गायों तथा ट्रक को कब्जे में लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here