दिल्ली, गुजरात में कोविड-19 संबंधी हालत हुए बदतर, केंद्र और राज्य सरकारें रिपोर्ट दें: सुप्रीम कोर्ट

0

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और गुजरात जैसे स्थानों पर कोरोना वायरस (कोविड-19) संबंधी हालात बदतर हो गए हैं। इसके साथ ही न्यायालय ने केंद्र सरकार और सभी राज्य सरकारों को दो दिन के भीतर स्थिति रिपोर्ट पेश कर यह विस्तार से बताने को कहा है कि वर्तमान के कोरोना वायरस संबंधी हालत से निपटने के लिए उन्होंने क्या कदम उठाए हैं।

सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोविड-19 की स्थिति गुजरात में भी बदतर हुई और नियंत्रण से बाहर हो रही है। न्यायमूर्ति अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पीठ ने दिल्ली सरकार की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल संजय जैन से कहा, ‘‘दिल्ली में हालत काफी बिगड़ गए, खासकर नवंबर के महीने में। आप स्थिति रिपोर्ट पेश करें और बताएं कि इस बाबत क्या कदम उठाए गए हैं।’’

न्यायमूर्ति आर. एस. रेड्डी और न्यायमूर्ति एम. आर. शाह भी पीठ का हिस्सा हैं। पीठ ने केंद्र और राज्यों से कहा कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों से निपटने और हालात को सुधारने के लिए वे हर संभव प्रयास करें। शीर्ष अदालत एक मामले की सुनवाई कर रही थी जिसमें उसने कोविड-19 के मरीजों को उचित उपचार देने और अस्पतालों में शवों को सम्मानजनक तरीके से रखने के बारे में संज्ञान लिया। इसके साथ ही न्यायालय ने मामले की सुनवाई 27 नवंबर तक के लिए स्थगित कर दी।

देश में संक्रमण के मामले 90 लाख से अधिक हो गए हैं, ऐसे में केंद्र सरकार युद्ध स्तर पर वैक्सीन वितरण प्रणाली तैयार कर रही है। भारत में सोमवार को और 44,000 नए कोविड-19 मामले सामने आए, जिसके साथ संक्रमण के कुल आंकड़े 91,39,866 पर पहुंच गए। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में घातक वायरस के कारण और 511 मौतें हुईं हैं, जिनके साथ मौतों के कुल आंकड़े 1,33,738 हो गई है।

देश में सक्रिय मामले 4,43,486 हो गए हैं, वहीं अब तक कुल 85,62,641 लोग वायरस से उबर चुके हैं और पिछले 24 घंटों में 41,024 लोगों को छुट्टी दे दी गई है। वहीं, लगातार 16वें दिन भारत में एक दिन में 50,000 से कम मामले दर्ज किए गए हैं। आखिरी बार 7 नवंबर को एक दिन में दर्ज किए जाने वाले दैनिक मामले 50,000 की सीमा को पार कर गए थे। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में रिकवरी दर 93.86 फीसदी है, जबकि मृत्यु दर 1.46 फीसदी है।

महाराष्ट्र 82,521 सक्रिय मामलों और अब तक 46,623 मौतों के साथ सबसे अधिक प्रभावित राज्य बना हुआ है। राज्य में 16,51,064 लोग रिकवर हो चुके हैं। महाराष्ट्र के अलावा आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। राष्ट्रीय राजधानी में भी वृद्धि देखी जा रही है, रविवार को यहां 6,746 नए मामले और 121 मौतें दर्ज की गईं। (इंपुट: आईएएनएस और भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here