निर्मल बाबा के कार्यक्रम पर अदालत सख्त, कहा- अगर अंधविश्वास को बढावा दे रहे हैं तो हो कार्रवाई

0

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनउ पीठ ने सूचना प्रसारण मंत्रालय को निर्मल बाबा के कार्यक्रमों से जुडे आरोपों की पुष्टि के लिए कहा है।

उच्च न्यायालय
file photo

पीटीआई की ख़बर के मुताबिक, उच्च न्यायालय ने मंत्रालय से कहा गया है कि वह इस बात को देखे कि विभिन्न टीवी चैनलों पर प्रसारित हो रहे निर्मल बाबा के कार्यक्रम दर्शकों के बीच अंधविश्वास को तो बढावा नहीं दे रहे हैं। अगर ऐसा है तो मंत्रालय बाबा के कार्यक्रम दिखाने वाले चैनलों पर केबल टेलीविजन नेटवर्क नियम 1994 के प्रावधानों के तहत कार्रवाई कर सकता है।

Also Read:  राहुल गांधी के आदेश के बाद PM मोदी पर दिए गए विवादित बयान पर मणिशंकर अय्यर ने मांगी माफी

न्यायमूर्ति ए पी साही और न्यायमूर्ति संजय हरकौली की पीठ ने 2012 में अधिवक्ता के सरन की ओर से दायर जनहित याचिका पर उक्त आदेश दिया। याचिकाकर्ता ने निर्मल बाबा के कार्यक्रम का प्रसारण करने वाले टीवी चैनलों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश देने का आग्रह अदालत से किया था। याचिका में आरोप था कि निर्मल बाबा के कार्यक्रम अंधविश्वास को बढावा दे रहे हैं।

Also Read:  बम के फटते ही कैमरा छोड़ बच्‍चे को बचाने के लिए भागा फोटोग्राफर, ना बचा पाने पर फूट-फूट कर रोया

अदालत को सूचित किया गया कि मंत्रालय ने खुद ही प्रसारणकर्ताओं की संस्था से निर्मल बाबा के खिलाफ शिकायत की थी। अदालत ने जानना चाहा कि शिकायत का क्या हुआ।

Also Read:  RSS के लोगों ने गोवा में दिखाए अमित शाह को काले झंडे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here