मोदी सरकार के खिलाफ ‘फासीवादी’ के नारे लगाने वाली छात्रा सोफिया को मिली जमानत, विपक्ष ने गिरफ्तारी पर उठाए सवाल

0

तमिलनाडु के तूतीकोरिन एयरपोर्ट पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार रिसर्च स्कॉलर 25 वर्षीय लुईस सोफिया को मंगलवार (4 सितंबर) को कोर्ट ने जमानत दे दी। तूतीकोरिन की स्थानीय अदालत ने छात्रा की जमानत मंजूर की। सोफिया लुईस को सोमवार (3 सितंबर) को तमिलनाडु के तूतीकोरिन एयरपोर्ट पर मोदी सरकार के खिलाफ विमान के अंदर नारे लगाने के मामले में गिरफ्तार किया गया था। सोफिया ने तमिलनाडु बीजेपी अध्यक्षा तमिलसाई सुंदरराजन की उपस्थिति में विमान में ‘मोदी सरकार फासीवादी’ के नारे लगाए थे।

तमिलनाडु के तूतीकोरिन एयरपोर्ट पर उस समय अफरातफरी का माहौल हो गया, जब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की राज्य इकाई की अध्यक्ष के खिलाफ सोफिया ने नारेबाजी शुरू कर दी। बीजेपी नेता के सामने ही सोफिया ने ‘फासीवादी बीजेपी सरकार गिर जाएगी’ का नारा लगाया। उस वक्त तमिलनाडु बीजेपी अध्यक्ष तमिलसाई सुंदरराजन वहीं पर मौजूद थीं। उधर, इस नारेबाजी के बीच राज्य बीजेपी अध्यक्ष तमिलसाई सुंदरराजन ने भी सोफिया से एयरपोर्ट पर ही खूब बहस की। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

हालांकि, सोफिया को बीजेपी के खिलाफ नारे लगाना महंगा पड़ा। मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने के मामले में विमान से उतरने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। दरअसल, तूतीकोरिन एयरपोर्ट पर लगेज रिसीव करने के दौरान सुंदरराजन की सहयात्री लुईस सोफिया ने बीजेपी को लेकर कमेंट किए थे। नारेबाजी करने वाली महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उस पर शांतिभंग करने का मामला दर्ज किया गया था, हालांकि कोर्ट ने अब जमानत दे दी है।

बीजेपी की तुलना फासीवाद से करते हुए लुईस सोफिया ने कहा, ‘फासीवादी बीजेपी सरकार गिर जाएगी।’ इतना सुनते ही प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष तमिलिसाई सुंदरराजन भड़क गईं और सहयात्री पर जमकर बरसीं। बताया जा रहा है कि कनाडा में रिसर्च कर रही सोफिया (25) अपने घर वापस आ रही थी और सुंदरराजन के सीट के पीछे बैठी थी। वह अचानक अपने सीट से उठी और बीजेपी तथा केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ ‘फासीवादी’ सरकार का नारे लगाने लगी।

स्‍टालिन बोले- कितने लोगों को अरेस्‍ट करोगे?

उधर, डीएमके सुप्रीमो एमके स्‍टालिन ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए ऐलान किया है कि वह भी बीजेपी सरकार के खिलाफ नारे लगाएंगे। स्टालिन ने महिला की गिरफ्तारी पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि तमिलनाडु सरकार की यह कार्रवाई बेहद निंराशजनक है! और उस महिला को तुरंत छोड़ा जाए। उन्‍होंने कहा कि यदि आप उन लोगों को गिरफ्तार करते हैं तो कितने लोगों को गिरफ्तार करेंगे? मैं भी सरकार के खिलाफ इस तरह के नारे लगाउंगा। बीजेपी का फासीवादी शासन हाय-हाय!

डीएमके के अलावा सीपीएम, सीपीआई और पीएमके ने भी पुलिस की कार्रवाई की निंदा की है और महिला की तत्काल रिहाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि घटना सिर्फ यह बता रही है कि केंद्र सरकार के खिलाफ युवाओं में गुस्सा है। पार्टियों ने कहा कि सुंदरराजन को मामले में ‘तिकड़म’ करने के बजाए परिपक्व तरीके से संभालना चाहिए था।

तूतीकोरिन जिले के एसपी मुरली रांभा ने कहा कि सोफिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 290 और 550 (i) (b) के तहत केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा तमिलनाडु सिटी पुलिस ऐक्ट के सेक्शन 75 के तहत केस दर्ज किया गया है। एसपी ने कहा कि पुलिस ने कानूनी सलाह लेने के बाद ही केस रजिस्टर किया है। सुंदरराजन ने बाद में मीडिया को बताया कि छात्रा जिस तरह से प्रदर्शन कर रही थी, उससे लगा जैसे वह अपने जीवन के लिए खतरा मान रही थीं।

बीजेपी नेता ने कहा, ‘वह एक आम इंसान नहीं है। उनके प्रदर्शन के पीछे जरूर किसी अतिवादी संगठन का हाथ है, जिसकी जांच होनी चाहिए।’ उन्‍होंने कहा, ‘वह दावा करती हैं कि यह उसकी अभिव्‍यक्ति की आजादी है। मेरे अंदर इतनी क्षमता है कि मैं अपनी पार्टी का बचाव कर सकती हूं लेकिन विमान के अंदर नहीं।’

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here