फेरा उल्लंघन मामले में कारोबारी विजय माल्या को ‘भगोड़ा’ घोषित, FERA उल्लंघन मामले में हुई कार्रवाई

0

दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को देश छोड़ चुके शराब कारोबारी विजय माल्या को भगोड़ा घोषित कर दिया। दिल्ली की एक अदालत ने गुरुवार को देश छोड़ चुके शराब कारोबारी विजय माल्या को भगोड़ा घोषित किया गया हैं। विजय माल्या जो देश के कई बैंकों का 9,000 करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज लेकर फरार होने का आरोप हैं।

विजय माल्या

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने माल्या को भगोड़ा घोषित कर दिया है। कोर्ट ने फॉरेन करेंसी रेग्युलेशन एक्ट उल्लंघन मामले में माल्या द्वारा ईडी के समन को बार-बार अनदेखी करने पर माल्या को भगोड़ा घोषित किया गया है।

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट के चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट दीपक सेहरावत ने अपने आदेश में कहा, ‘विजय माल्या समन जारी होने के 30 दिन के अंदर कोर्ट के सामने पेश नहीं हुए और ना ही उनकी पैरवी करते हुए कोई कार्ट के समक्ष पेश हुआ है। इसलिए माल्या को भगोड़ा घोषित किया जा रहा है।’

कोर्ट ने पिछले साल 12 अप्रैल को शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ ओपन एंडेड गैर-जमानती वारंट जारी किया था। गैर-जमानती वारंट के विपरीत, ‘एंडेड गैर-जमानती वारंट’ के निष्पादन में समय सीमा नहीं होता है। वहीं, 4 नवंबर 2016 को विजय माल्या के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी करते हुए कोर्ट ने कहा था कि माल्या में देश के कानून के प्रति सम्मान की कमी है और उनका भारत लौटने का कोई इरादा नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here