नोएडा: आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 20 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव युवती ने संक्रमित डॉक्टर पर लगाया छेड़छाड़ का आरोप, केस दर्ज

0

देश की राजधानी दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के नोएडा के सेक्टर-128 स्थित जेपी अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित लड़की के साथ आइसोलेशन वार्ड में एक संक्रमित डॉक्टर द्वारा छेड़खानी का मामला सामने आया है। पीड़ित युवती की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरु कर दी है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि मामले में जांच चल रही है।

नोएडा
प्रतीकात्मक फोटो

दरअसल, डॉक्टर भी कोरोना संक्रमित है और उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। जिस युवती के साथ छेड़खानी की गई है, उसकी उम्र करीब 20 वर्ष है और उसने पुलिस से इस घटना की शिकायत की है। जिसके बाद पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। 20 वर्षीय युवती ने अपनी शिकायत में कहा कि यह वाक्या सोमवार को हुआ। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक डॉक्टर और युवती पिछले हफ्ते कोरोना संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद उन दोनों का जेपी अस्पताल में इलाज चल रहा था।

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि महिला को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था। उसी में एक शख्स को भी भर्ती किया गया जो कि पेशे से डॉक्टर है। दोनों पिछले हफ्ते कोरोना संक्रमित पाए गए थे और एक ही वार्ड में भर्ती थे। महिला की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर दिया है और मामले की जांच चल रही है। सिंह ने आगे कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल के तहत डॉक्टर का बयान लिया जाएगा और उनसे पूछताछ भी की जाएगी।

वहीं पुलिस अधिकारियों ने स्वास्थ्य विभाग से भी आइसोलेशन वार्ड के नियमों को लेकर एक पत्र भी लिखा है। सिंह ने कहा, “ऐसा लगता है कि अस्पताल के स्तर पर भी कुछ लापरवाही हुई है और हम चिकित्सा विभाग के साथ बातचीत कर रहे हैं ताकि पता लगाया जा सके कि मरीजों को दिशानिर्देशों के तहत रखा गया था या नहीं।”

दरअसल, युवती नोएडा की निवासी है। 21 जुलाई को वह संक्रमित पाई गई थी जिसके बाद उसे एक जेपी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। जिस वार्ड में पीड़िता भर्ती थी, उसी वार्ड में 23 जुलाई को एक डॉक्टर को भी भर्ती किया गया। जिसके बाद आरोपी डॉक्टर उसके बार बार करीब आने की कोशिश कर रहा था। जिसका युवती ने विरोध भी किया। जिसके बाद युवती ने इस सम्बंध में एक्सप्रेस वे कोतवाली पुलिस में शिकायत की।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी अभी भी आइसोलेशन वार्ड में है लेकिन पुलिस COVID-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उसका बयान दर्ज करेगी। सभी जरूरी कदम उठाए जाएंगे ताकि सच सामने आ सके।” (इंपुट: आईएएनएस और पीटीआई के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here