यूपी पुलिस की शर्मनाक करतूत, रेप पीड़िता की मदद के बजाय दरोगा ने की ‘सेक्स’ की डिमांड

0

उत्तर प्रदेश में जब से योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने हैं, उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती राज्य में बिगड़े कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करना है। क्योंकि आए दिन महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और बलात्कार की घटनाएं सामने आ रही हैं। इतना ही नहीं, सत्ता बदलने के बावजूद राज्य के पुलिसवालों में कोई बदलाव नजर नहीं आ रहा है। अब तो पुलिसकर्मी पीड़ित महिलाओं की मदद के बजाय शर्मनाक हरकत पर उतर आए हैं।rapeताजा मामला रामपुर का है, जहां एक 37 वर्षीय पीड़ित महिला अपने साथ गैंगरेप करने वालों के खिलाफ शिकायत करने जब थाने पहुंची तो वहां मौजूद जांच अधिकारी ने मदद के बदले शारीरिक शोषण का प्रयास किया। इतना ही नहीं जांच अधिकारी ने पीड़ित महिला से अपराधियों को गिरफ्तार करने के बदले सेक्स की ही मांग कर डाली।

दरअसल, अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक फरवरी महीने में रामपुर में 37 वर्षीय पीड़ित महिला से दो लोगों ने गैंगरेप किया। लेकिन काफी समय बीतने के बाद भी जब आरोपियों को नहीं पकड़ा गया तो महिला रामपुर के गंज पुलिस स्टेशन मदद के लिए पहुंची और कहा कि उसके रेपिस्ट खुलेआम घूम रहे हैं और उसकी जिंदगी को खतरा है।

रेप पीड़िता ने अपने आरोपियों को गिरफ्तार करने को कहा, लेकिन अधिकारी ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने से पहले महिला को अपने साथ सेक्स करने को कहा। पुलिस अधिकारी ने महिला से शर्मनाक डिमांड करते हुए कहा, ‘पहले हमारे साथ सेक्‍स करो फिर अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।’

जब महिला ने इस मांग को मानने से इनकार कर दिया, तो पुलिस ने उसे एक और झटका दिया। सब-इंस्पेक्टर, जय प्रकाश सिंह ने मामले में क्लोजर रिपोर्ट फाइल कर दी। पीड़ित महिला ने एक बार फिर उसी अधिकारी से मदद की गुहार लगाई, लेकिन इस बार ऑफिसर से हुई बातचीत रिकॉर्ड कर ली।

टाइम्स ऑफ इंडिया के पास इस रिकॉर्डिंग की कॉपी है। इस सबूत के साथ बुधवार को महिला SP के पास गई, जिन्होंने जांच अधिकारी के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। एडिशनल सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस सुधा सिंह ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि, ‘गंज स्टेशन ऑफिसर को इस मामले की जांच कर रिपोर्ट जमा करने का आदेश दिया गया है।’

पीड़िता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि, ‘जब भी मैंने दरोगा जय प्रकाश सिंह से आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए कहा तो उन्होंने पहले मेरे साथ सेक्स करने की मांग रखी। उन्होंने मुझे फोन करके भी अपने घर आने को कहा। जब मैंने ऐसा करने से इनकार कर दिया, तो उन्होंने मामले में क्लोजर रिपोर्ट दायर कर दी।’

महिला ने आगे बताया कि, ‘दरोगा रेप के बारे में कई बार आपत्तिजनक सवाल किए। इसके बाद उन्होंने मुझे कहा कि, तुम पहले मेरी हसरत पूरी करो, तब अपराधी पकड़े जाएंगे। जब मुझसे यह बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने चुपके से उनकी सारी बातचीत रिकॉर्ड कर ली और आखिर में सीडी एसपी को सौंप दी।’

क्या है मामला?

पुलिस के मुताबिक, 12 फरवरी की रात महिला का दो लोगों ने गैंगरेप किया, जिनमें से एक उसका परिचित था। महिला अपने एक रिश्तेदार के यहां से वापस रामपुर सिटी लौट रही थी तभी दोनों ने उसे लिफ्ट दी, उसे घर छोड़ा और घर में उसे अकेला देख बंदूक की नोक पर महिला के साथ रेप किया।

पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज करने से इनकार कर दिया था। इसके बाद महिला ने स्थानीय कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और फिर एक हफ्ते बाद इस मामले में केस दर्ज किया गया। 21 फरवरी को 55 वर्षीय अमीर अहमद और 45 वर्षीय सत्तार अहमद के खिलाफ IPC की धारा 376 डी (गैंगरेप), 323 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here