दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरूल इस्लाम बोले- भारत के मुसलमानों ने अरब देशों से जिस दिन कर दी शिकायत, आ जाएगा जलजला; BJP ने किया पलटवार

0

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरूल इस्लाम अपने एक फेसबुक पोस्ट को लेकर एक बार फिर से विवादों में आ गए हैं। उन्होंने अपने फेसबुक पर लिखा कि जिस दिन भारत के मुसलमानों ने अरब देशों से अपने जुल्म की शिकायत कर दी जलजला आ जायेगा। उनके इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सख्त हो गई है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि जफरुल इस्लाम भारत की छवि खराब कर रहे हैं।

जफरूल इस्लाम

भाजपा प्रवक्ता शहनवाज हुसैन ने कहा है कि कुवैत के नाम दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन डॉ जफरूल इस्लाम खान की एक चिट्ठी हैरान करने वाली है। हिंदुस्तान के मुसलमान जितने सुरक्षित और आजाद हैं, वो दुनिया के लिए मिसाल है। नफरत से भरी ऐसी चिट्ठी से देश की छवि बिगाड़ने की कोशिश अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। वहीं, भाजपा प्रवक्ता विजय सोनकर शास्त्री ने कहा कि यह लिखना गलत है, झूठ है। भारत की छवि धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री इस पर जबाव दें, तुंरत इस्लाम को उनको पद से हटाएं।

जफरुल इस्लाम ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि भारतीय मुस्लिमों के साथ खड़े होने के लिए कुवैत का धन्यवाद। उन्होंने लिखा है कि हिंदुत्व विचारधारा के लोग सोचते हैं कि कारोबारी हितों की वजह से अरब देश भारत के मुस्लिमों की सुरक्षा की चिंता नहीं करेंगे, लेकिन वे नहीं जानते हैं कि भारतीय मुस्लिमों के अरब और मुस्लिम देशों से कैसे रिश्ते हैं। जफरुल ने लिखा कि जिस दिन मुसलमानों ने अरब देशों से अपने खिलाफ जुल्म की शिकायत कर दी, जलजला आ जाएगा। उन्होंने यह पोस्ट 28 अप्रैल की रात को लिखी है।

Thank you Kuwait for standing with the Indian Muslims! The Hindutva bigots calculated that given the huge economic…

Posted by Zafarul-Islam Khan on Tuesday, April 28, 2020

इससे पहले भी जफरुल इस्लाम खान क्वॉरन्टीन सेंटर में तबलीगी जमात के लोगों के साथ हो रहे व्यवहार को लेकर दिल्ली सरकार को पत्र लिख चुके हैं। इस्लाम ने अपने पत्र में केंद्र और दिल्ली सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि तबलीगी जमात के लोगों को क्वॉरन्टीन की अवधि को पूरा करने के बाद छोड़ा नहीं जा रहा है। उनके साथ छुआछूत हो रही है। उन लोगों को कैदियों की तरह रखा जा रहा है। एक तरफ सरकार ठीक हुए जमातियों का प्लाज्मा इस्तेमाल कर रही है, वहीं दूसरी ओर उन्हें कैदियों से भी बदतर हालात में रखा जा रहा है। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here