लोकसभा में प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को बताया ‘देशभक्त’, कांग्रेस ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

0

कांग्रेस ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर सांसद प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी को लेकर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि सांसद के खिलाफ प्रधानमंत्री की ‘निष्क्रियता’ गोडसे के विचारों के लिए उनके समर्थन को साबित करती है। विपक्ष पार्टी ने कहा कि ठाकुर की टिप्पणी भाजपा की नफरत की ‘राजनीति का प्रतिनिधित्व’ करती है। प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती धूमधाम से मनाने वाले प्रधानमंत्री से अनुरोध है कि वह दिल से बता दें कि गोडसे के बारे में उनके क्या विचार हैं?

प्रज्ञा ठाकुर
(PTI File Photo)

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्विटर पर कहा, ‘‘मोदी जी, प्रज्ञा के खिलाफ निष्क्रियता गोडसे के विचारों के लिए आपके समर्थन को साबित करती है। भारत आपको माफ नहीं करेगा।’’ रणदीप सुरजेवाला ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “देश गांधी जयंती का 150वाँ साल मना रहा है, और भाजपा सांसद,प्रज्ञा ठाकुर गांधी जी के हत्यारे गोडसे को ‘शहीद’ बता महिमामंडन कर रही हैं। गोडसे की सोच के भाजपाईयों ने जो गाँधी वादी मुखौटा लगाया था, आज संसद में उतर गया। मोदी जी, देश अब आपको व भाजपा को कभी ‘मन से माफ़ नही करेगा’।”

कांग्रेस के एक अन्य प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि यह बड़बोलापन भाजपा का पतन सुनिश्चित करेगा। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘जो भी हो, यह एक बहुत ही खतरनाक संकेत है और इसने भारतीय लोकतंत्र और इसके संस्थापकों का पूरी तरह से मजाक उड़ाया है।’’ सिंघवी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘ये वे विचारधाराएं हैं जो भाजपा के सत्ता में आने के बाद से बहुत ताकतवर महसूस कर रही हैं। यह हैरान करने वाला और शर्मनाक है कि वह सांसद हैं।’’

कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर कहा गया है कि प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी भाजपा की नफरत की राजनीति का प्रतिनिधित्व करती है। पार्टी ने कहा, ‘‘ क्या प्रधानमंत्री प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी की निंदा करेंगे या चुप्पी बनाये रखेंगे?’’

विशेष सुरक्षा समूह (संशोधन) विधेयक पर द्रमुक के सदस्य ए राजा ने गोडसे के बयान का हवाला दिया कि उसने महात्मा गांधी की हत्या क्यों की, इस पर प्रज्ञा ठाकुर ने उन्हें रोका और टिप्पणी की जिस पर विपक्षी सदस्यों ने विरोध जताया। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनाते ने कहा कि ठाकुर आतंकवाद के मामले में आरोपी हैं और उन्हें संसद के लिए चुना नहीं जाना चाहिए था। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ नरेंद्र मोदी जी, फिर से चुप मत रहिए। इतिहास आपको नहीं छोड़ेगा। यह महात्मा की भूमि है।’’

कांग्रेस के अन्य प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने आरोप लगाया कि नाथूराम गोडसे की पूजा करने वाली प्रज्ञा ठाकुर की टिप्पणी भाजपा और आरएसएस के भीतर प्रचलित महात्मा गांधी विरोधी भावना को प्रदर्शित करती है। कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘मेरा हमेशा से मानना है कि भाजपा गांधी का नाम जपती है और गोडसे में विश्वास रखती है। एसपीजी सुरक्षा अधिनियम पर मैंने अपने भाषण के दौरान कहा है कि भाजपा के कई सदस्य सांसद प्रज्ञा ठाकुर के विचार का समर्थन करते हैं। गृह मंत्री अमित शाह को उनसे तुरंत माफी मांगने को कहना चाहिए।’’

बता दें कि, लोकसभा चुनाव के दौरान गोडसे को देशभक्त बताने पर प्रज्ञा ठाकुर पीएम मोदी की नाराजगी भी झेल चुकी हैं। बीजेपी द्वारा 150वीं गांधी जयंती पर निकाली संकल्प यात्रा में प्रज्ञा की नामौजूदगी पर सवाल उठे थे। कांग्रेस ने इसके जरिए भाजपा और प्रज्ञा पर हमला बोला था। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here