राजस्थान: कांग्रेस ने सचिन पायलट गुट के विधायक भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह को पार्टी से किया निलंबित

0

राजस्थान में चल रहें राजनीतिक संकट के बीच आरोप-प्रत्यारोप और नेताओं की बयानबाजी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रही है। हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर ऑडियो क्लिप जारी करने के बाद कांग्रेस पार्टी ने शुक्रवार (17 जुलाई) को सचिन पायलट के समर्थन में उतरे अपने दो बागी विधायकों पं. भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें पार्टी से निकाल दिया। दोनों को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया। इसके पहले विश्वेंद्र सिंह कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री थे, पिछले मंगलवार को पार्टी ने उनसे कैबिनेट मंत्री का पद भी छीन लिया था।

राजस्थान

होटल फेयरमोंट में हॉर्स ट्रेडिंग के मसले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटसरा ने इस मसले पर भाजपा पर भी गंभीर आरोप लगाए। सुरजेवाला ने भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर एफआईआर दर्ज करने और गिरफ्तारी की मांग भी उठाई है।

सुरजेवाला ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने विधायकों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले एक महाने से विधायकों की ख़रीद-फ़रोख़्त की कोशिश चल रही है और SOG जांच भी कर रही है। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि विधायकों को खरीदकर चुनी हुई सरकार को गिराने की कोशिश की गई सरकार गिराने का षड्यंत्र बेनक़ाब हो चुका है।

उधर, राजस्थान में आए सियासी भूचाल के बाद अब विधानसभा स्पीकर डॉ. सीपी जोशी के नोटिस के खिलाफ बागी विधायकों ने हाई कोर्ट की शरण ली है। गुरुवार को दायर याचिका पर आज दोपहर 1 बजे राजस्थान हाई कोर्ट की डिवीजन बेंच सुनवाई करने वाली है। हालांकि, इसी वक्त यानी दोपहर 1 बजे तक सचिन पायलट समेत 19 विधायकों को स्पीकर के नोटिस का जवाब भी देना था। लेकिन स्पीकर जोशी ने इस मामले में पायलट को राहत देते हुए शाम 5 बजे तक का समय बढ़ा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here