सचिन पायलट का समर्थन करने पर कांग्रेस ने संजय झा को पार्टी की सदस्‍यता से किया निलंबित

0

कांग्रेस पार्टी ने मंगलवार (14 जुलाई) को पार्टी प्रवक्‍ता रह चुके संजय झा को पार्टी की सदस्‍यता से निलंबित कर दिया है। पार्टी की ओर से कहा गया है कि ऐसा उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियों और पार्टी अनुशासन तोड़ने के कारण किया गया है। बता दें कि, राजस्‍थान के सियासी ड्रामे के बीच संजय झा ने हाल ही में कुछ ट्वीट किए थे।

संजय झा

महाराष्‍ट्र कांग्रेस ने मंगलवार को ट्विटर पर संजय झा को पार्टी से निलंबित करने का ऐलान किया था। इससे पहले संजय झा ने ट्वीट करके सुझाव दिया था कि राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बना देना चाहिए। उन्‍होंने यह भी कहा था कि पार्टी को तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके अशोक गहलोत को बड़ी जिम्मेदारी देते हुए ऐसे राज्‍यों की जिम्‍मेदारी सौंपनी चाहिए जहां कांग्रेस कमजोर है। उन्होंने एक ट्वीट में सचिन पायलट की ‘मांग’ को जायज़ ठहराया और अपना समर्थन दिया था। उन्होंने पायलट की योग्यता साबित करने के लिए कुछ आंकड़े भी पेश किए थे।

संजय झा ने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘मैं सचिन पायलट का पूरी तरह समर्थन करता हूं. ज़रा आंकड़ों पर नजर डालिए। राजस्थान 2013 विधानसभा चुनाव, मुख्यमंत्री- अशोक गहलोत। चुनावी नतीजे- भाजपा को 163 और कांग्रेस को 21 सीट मिली। (अब तक की सबसे कम सीटें)। 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 73 सीटें और कांग्रेस को 100 सीटें मिली। एक शख्स पांच सालों तक इसके लिए मेहनत करता रहा; सचिन। लेकिन सीएम कौन बना?’

एक अन्य ट्वीट में संजय झा ने लिखा था, “पहला, ज्योतिरादित्य सिंधिया। अब, सचिन पायलट। अगला कौन? इस जगह को देखो!”

बता दें कि, इससे पहले संजय झा ने एक समाचारपत्र में एक लेख लिखा था जिसमें उन्होंने देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी की आलोचना की थी। इसके कुछ दिन बाद उन्हें कांग्रेस से निलंबित किया गया है। महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख बाला साहेब थोराट ने एक बयान में कहा, ‘‘झा को पार्टी विरोधी गतिविधियों और अनुशासनहीनता के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है।’’ अंग्रेजी दैनिक में पिछले महीने लेख सामने आने के तुरंत बाद कांग्रेस ने झा को पार्टी प्रवक्ता के पद से हटा दिया था।

बता दें कि, राजस्थान में सियासी संकट के बीच कांग्रेस ने सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री पद और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से छुट्टी कर दी गई है। सचिन पायलट के अलावा विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here