कांग्रेस ने ‘संविधान बचाओ’ अभियान का किया आगाज, PM मोदी और RSS पर जमकर बरसे राहुल गांधी

0

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में सोमवार (23 अप्रैल) को कांग्रेस द्वारा आयोजित ‘संविधान बचाओ’ रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र सरकार, बीजेपी और आरएसएस पर जमकर हमला बोला। राहुल गांधी ने पीएम मोदी और RSS पर तीखा हमला करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने देश के संविधान और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करके तथा देश को जाति धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश करके भारत की धर्मनिरपेक्ष एवं सहिष्णु छवि को विदेशों में जबर्दस्त चोट पहुंचाई है।

@INCIndia

एक वर्ष तक चलने वाले देशव्यापी ‘संविधान बचाओ अभियान’ की शुरूआत करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा में ही यह ताकत है कि वह संविधान, संवैधानिक संस्थाओं, दलितों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं समेत समाज के हर तबके की रक्षा कर सकती है। राहुल ने संविधान बचाओ अभियान की शुरुआत के दौरान कहा कि हम बीजेपी और आरएसएस को संविधान के साथ छेड़छाड़ करने, उसे बर्बाद करने की इजाजत नहीं देंगे। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हम बीजेपी को संविधान को छूने तक नहीं देंगे।

राहुल ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में रैली को अपने संबोधन में कहा कि कांग्रेस ने 70 वर्ष के शासन में देश को संविधान दिया और चुनाव आयोग, लोकसभा, राज्यसभा,विधानसभाएं तथा आईआईटी और आईआईएम जैसी संस्थाएं दीं और सबका सम्मान एवं रक्षा की, लेकिन आज हर संस्था में आरएसएस की विचारधारा के लोगों को भरा जा रहा है। देश के इतिहास मे पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने जनता के समक्ष आकर न्याय मांगा, जबकि आम तौर पर जनता ही न्याय के लिए अदालतों के पास जाती है।

पीएम मोदी की किताब ‘कर्मयोगी बाइ नरेंद्र मोदी’ के कोट का इस्तेमाल करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री को दलित विरोध बताया। राहुल ने कहा कि, ‘पीएम ने अपनी किताब में लिखा है कि वाल्मिकी समाज का व्यक्ति जो काम करता है वे पेट भरने के लिए नहीं करते हैं। अगर वे यह काम सिर्फ पेट भरने के लिए करता तो इसे सालोंभर नहीं करते। वे ये काम अध्यात्म के लिए करते हैं।’

कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम मोदी पर हमलावर रुख अपनाते हुए कहा कि यह दलितों के लिए पीएम की सोच है। उन्होंने पीएम के विचारों पर सवाल उठाते हुए कहा कि, ‘इन विचारों से पीएम का दलितों के प्रति रुख साफ होता है। यह पीएम की विचारधारा है। यह देश के हर गरीब और दलित को समझना होगा। पीएम के दिल में दलितों के लिए जगह नहीं है।’ राहुल गांधी ने कांग्रेस के योगदान की चर्चा करते हुए कहा कि 70 साल में देश की इज्जत कांग्रेस पार्टी ने बनाई है और पिछले 4 साल में पीएम मोदी ने इस इज्जत पर चोट मारी है।

कठुआ और उन्नाव में हुए गैंगरेप को लेकर भी राहुल गांधी ने पीएम मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि, ‘8 साल की छोटी बच्ची से रेप होता है लेकिन मोदी जी बीजेपी एमएलए के बारे में एक शब्द नहीं बोलते। पहली बार पीएम से दूसरे देश में आईएमएफ की चीफ बोली मोदी जी आप महिलाओं के लिए काम नहीं कर रहे हो।’ राहुल ने मोदी सरकार के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को लेकर कहा कि, ‘पहले नारा था बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अब नया नारा देंगे सिर्फ बेटी बचाओं किससे बचाओ बीजेपी एमएलए से बचाओ क्योंकि हिन्दुस्तान की सरकार बेटियों को नहीं बचाएगी।’

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदी संसद में खड़े होने से घबराते हैं। उन्होंने कहा कि नीरव मोदी, ललित मोदी और माल्या का मामला है, जिसमें सरकार बचती नजर आ रही है। मेरी 15 मिनट मोदी जी के सामने स्पीच करा दो, मैं नीरव मोदी, माल्या, राफेल की बात करुंगा, मोदी जी वहां खड़े नहीं हो पाएंगे। पूरा देश जानता है कि राफेल में घोटाला हुआ. नीरव मोदी इतना पैसा लेकर भाग जाता है, मगर उनके दोस्त कुछ नहीं बोल रहे हैं।

कांग्रेस ने 'संविधान बचाओ' अभियान का किया आगाज, PM मोदी और RSS पर जमकर बरसे राहुल गांधी

कांग्रेस ने 'संविधान बचाओ' अभियान का किया आगाज, PM मोदी और RSS पर जमकर बरसे राहुल गांधी

Posted by जनता का रिपोर्टर on Monday, April 23, 2018

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here