कांग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद ने अमित शाह की बीमारी को ‘सूअर का जुकाम’ बताकर आग में डाला घी, BJP भड़की

0

स्वाइन फ्लू की वजह से राजधानी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानी एम्स में भर्ती भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की बीमारी को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद बीके हरिप्रसाद ने आपत्तिजनक बयान दिया है। बीजेपी अध्यक्ष की बीमारी पर विवादित तंज कसते हुए हरिप्रसाद ने कथित तौर पर स्वाइन फ्लू को ‘सूअर का जुकाम’ बताया है और कहा कि कर्नाटक सरकार को अस्थिर करने की कोशिश करेंगे तो और भी बीमारियां होंगी।

BK Hariprasad

कांग्रेस नेता के इस विवादित बयान पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने पलटवार करते हुए इसे ‘बेहुदा बयान’ बताया है। बता दें कि शाह को स्वाइन फ्लू के इलाज के लिए बुधवार को एम्स में भर्ती कराया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हरिप्रसाद ने कहा कि अमित शाह ने हमारे चार विधायकों को कथित तौर पर अगवा करवाया इसीलिए उन्हें स्वाइन फ्लू हुआ है। यह कोई ऐसा वैसा बुखार नहीं है, उन्हें सुअर का बुखार आया है, जिसे स्वाइन फ्लू कहते हैं।

इस बयान के बाद बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए हमला बोला है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने हरिप्रसाद के बयान पर ट्वीट कर लिखा, “जिस तरह का गंदा और बेहूदा बयान कांग्रेस के सांसद बीके हरिप्रसाद ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जी के स्वास्थ्य के लिये किया हैं, यह कांग्रेस के स्तर को दर्शाता है, फ्लू का उपचार है, लेकिन कांग्रेस के नेताओं की मानसिक बीमारी का उपचार मुश्किल है”

बता दें कि अमित शाह की सेहत फिलहाल ठीक है और उन्हें एक या दो दिन में अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। बीजेपी ने गुरुवार को यह जानकारी दी। पार्टी के मीडिया प्रमुख और राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी ने कहा अमित शाह जी का स्वास्थ्य ठीक है। उन्हें एक या दो दिन में अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। शुभकामनाओं के लिए सभी का आभार।

शाह ने एक ट्वीट कर बुधवार को अपने बीमार होने के बारे में लोगों को सूचना दी थी। उन्हें स्वाइन फ्लू हो गया था। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मुझे स्वाइन फ्लू हुआ है, जिसका उपचार चल रहा है। ईश्वर की कृपा, आप सभी के प्रेम और शुभकामनाओं से शीघ्र ही स्वस्थ हो जाऊंगा।’ अस्पताल ने बताया था कि एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में चिकित्सकों का एक दल उनकी जांच कर रहा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here