VIDEO: कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने धारा 370 हटाने का किया समर्थन, बोलीं- इस पर न करें राजनीति

0

कांग्रेस पार्टी भले ही जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का विरोध कर रहीं हो लेकिन रायबरेली की सदर सीट से विधायक और सोनिया गांधी-प्रियंका गांधी की करीबी समझे जाने वाली कांग्रेस नेता अदिति सिंह ने मोदी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि यह एक एतिहासिक फैसला है और इस पर राजनीतिकरण नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं इस फैसले का स्वागत करती हूं।

अदिति सिंह
फाइल फोटो: कांग्रेस नेता अदिति सिंह

समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए अदिति सिंह ने कहा, “जो मेरा व्यक्तिगत ओपिनियन है इस पर वो मैंने बिल्कुल क्लियर कर दिया था कि ये जो धारा 370 बदलने के लिए जो बिल लाई गई है इसके मैं पूरे पक्ष में हूं। जो राज्यसभा में कल इंट्रोड्यूज भी किया गया था। मैं ये मानती हूं कि इससे देश की जो सुरक्षा व्यवस्था है, उस पर भी फर्क पड़ेगा, जम्मू कश्मीर को अधिक सुविधाएं मिल पाएंगी। ये बहुत बड़ा हिस्टोरिक डिसिजन है, ये पार्टी लाइन से उपर उठ कर है। मैं सरकार का इस मुद्दे पर समर्थन करती हूं। इसको राजनीतिक मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए।”

बता दें कि, अदिति सिंह का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी समेत पार्टी के कई बड़े नेताओं ने आर्टिकल 370 पर मोदी सरकार के कदम की आलोचना की है।

गौतरतलब है कि, जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा खत्‍म करने के सरकार के फैसले पर लेकर कांग्रेस पार्टी दो खेमों में बंट गई है। राहुल गांधी, मनीष तिवारी और गुलाम नबी आजाद सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता इस प्रस्ताव का विरोध कर रहे हैं तो कई इसके समर्थन में खुलकर सामने आए हैं।

राहुल गांधी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, जम्मू-कश्मीर को तोड़कर राष्ट्रीय एकता नहीं हो सकती। चुने हुए प्रतिनिधियों को कैद करके और हमारे संविधान का उल्लंघन कर के राष्ट्रीय एकता को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है। इस देश को यहां के लोगों ने बनाया है न कि जमीन के टुकड़ों द्वारा यह बना है। कार्यकारी शक्ति के इस गलत इस्तेमाल से राष्ट्रीय सुरक्षा पर गंभीर असर पड़ेगा।

मायावती ने सरकार के फैसले का किया स्वागत

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने भी जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर केंद्र सरकार का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के फैसले का सही लाभ वहां के लोगों को आगे मिलेगा।

मायावती ने मंगलवार को ट्वीट किया, “संविधान की ‘सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक न्याय’ की मंशा को देश भर में लागू करने हेतु जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा संबंधी धारा 370 व 35ए को हटाने की मांग काफी लम्बे समय से थी। अब बसपा उम्मीद करती है कि इस संबंध में केंद्र सरकार के फैसले का सही लाभ वहां के लोगों को आगे मिलेगा।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होने लिखा, “इसी प्रकार, जम्मू-कश्मीर के लेह-लद्दाख को अलग से केंद्र शासित क्षेत्र घोषित किए जाने से खासकर वहां के बौद्घ समुदाय के लोगों की बहुत पुरानी मांग अब पूरी हुई है, बसपा जिसका भी स्वागत करती है। इससे पूरे देश में, विशेषकर बाबा साहेब डॉ़ भीमराव अम्बेडकर के बौद्घ अनुयाई काफी खुश हैं।”

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाने के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को राज्यसभा में प्रस्ताव पेश किया था। संसद में इस प्रस्ताव के आने के बाद विपक्ष लगातार विरोध कर रही है, तो वहीं इस प्रस्ताव पर बसपा ने केंद्र सरकार का समर्थन कर सबको चौंका दिया है। विपक्ष धारा 370 को हटाने वाले प्रस्ताव पर दो भागों में बंट गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here