कर्नाटक में जारी राजनीतिक घमासान के बीच कांग्रेस के मंत्री ने अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी का उड़ाया मजाक

0

कर्नाटक में एक बार फिर राजनीतिक घमासान शुरू हो गया है। विधानसभा चुनावों के करीब सात माह बाद सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने एक-दूसरे पर खरीद फरोख्त के आरोप लगाते हुए अपने अपने विधायकों को लामबंद करना शुरू कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी के विधायकों को दिल्ली सहित गुरुग्राम के होटलों में शिफ्ट करा दिया है। वहीं, कांग्रेस के भी कुछ विधायक लापता बताए जा रहे हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया। वहीं, दूसरी तरफ बीजेपी विधायक दल के नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने भी कांग्रेस पर यही आरोप खरीद फरोख्त के आरोप लगाते हुए अपने विधायकों को सोमवार को दिल्ली पहुंचा दिया। यहीं नहीं बीएस येदुरप्पा भी दिल्ली पहुंचे हुए हैं। कर्नाटक के मंत्री डी.के. शिवकुमार ने सोमवार को आरोप लगाया कि बीजेपी राज्य के कांग्रेस विधायकों को खरीदने का प्रयास कर रही है।

इस राजनीतिक घमासान के बीच कांग्रेस के एक मंत्री ने अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी का मजाक उड़ाते हुए पीत पत्रकारिता करने का आरोप लगाया है। कर्नाटक के समाज कल्याण मंत्री प्रियांक खड़गे ने गोस्वामी के चैनल पर तंज सकते हुए ट्वीट कर लिखा है कि मुझे पहले ही पता चल गया था कि मुंबई में होने के कारण रिपब्लिक टीवी से मुझे फोन आएगा। जाहिर तौर पर उनके सूत्रों ने उन्हें बताया होगा कि मैं बीजेपी में शामिल होने के लिए मुंबई में हूं। साथ ही उन्होंने चैनल पर पीत पत्रकारिता का आरोप लगाया।

कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार ने बेंगलुरू में मीडिया को बताया, “हमारे तीन विधायक मुंबई में हैं। हम (कांग्रेस) बीजेपी द्वारा की जा रही खरीद फरोख्त के प्रयास से अवगत हैं। हमारे विधायकों ने भी स्वीकार किया कि भाजपा द्वारा उनसे संपर्क किया जा रहा है।” उन्होंने आरोप लगाया, “बीजेपी विधायकों को खरीदकर जनता दल सेक्युलर (जद-एस) व कांग्रेस की गठबंधन सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रही है।”

शिवकुमार ने हालांकि उन विधायकों का नाम नहीं लिया, जिनसे बीजेपी ने संपर्क किया है। उप मुख्यमंत्री जी. परमेश्वरा, पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और प्रदेश इकाई के अध्यक्ष दिनेश गुंडु राव सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक से पहले कांग्रेस नेता ने मीडिया से यह बात कही। हालांकि सत्तारूढ़ गठबंधन में साझेदार जद-एस और मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने दावा किया कि सरकार स्थिर बनी रहेगी।

कुमारस्वामी ने मीडिया को बताया, “सभी विधायक हमारे संपर्क में हैं और हम गठबंधन सरकार की स्थिरता सुनिश्चित कर रहे हैं।” इस बीच, बीजेपी ने गठबंधन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए भाजपा पर आरोप लगा रही है। वहीं, नई दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए बीजेपी की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष बी.एस. येदियुरप्पा ने विधायकों की खरीद-फरोख्त के कांग्रेस के आरोपों को बेतुका करार दिया।

येदियुरप्पा ने नई दिल्ली में संवाददाताओं को बताया, “खरीद-फरोख्त के ये आरोप केवल अफवाह हैं और इनमें कोई सच्चाई नहीं है।” दक्षिणी राज्य के बीजेपी सांसद और विधायक अप्रैल-मई में आगामी लोकसभा चुनाव से पहले अपने नेतृत्व से मिलने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में हैं। 225 सदस्यीय विधानसभा में अध्यक्ष सहित कांग्रेस के 80 विधायक हैं जबकि 37 विधायक जद-एस के हैं। विधानसभा में बीजेपी के 104 विधायक हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here