फिटनेस के बाद अब PM मोदी को मिल रहे हैं तरह-तरह के चैलेंज, कांग्रेस ने दी ‘डिग्री सार्वजनिक’ करने की चुनौती

0

ओलंपिक रजत पदक विजेता रह चुके खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने पिछले दिनों देश में फिटनेस को लेकर जागरूकता अभियान के तहत व्यायाम करते हुए टि्वटर पर एक फिटनेस चैलेंज अभियान शुरू किया था। उन्होंने अपना एक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर खेल और सिनेमा जगत की कुछ प्रमुख हस्तियों को टैग करते हुए उनसे भी इस अभियान में शामिल होने की अपील की थी, जिसमें उन्होंने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, रितिक रोशन और सायना नेहवाल को चैलेंज दिया।

(Source: PIB/Twitter)

केंद्रीय मंत्री के चैलेंज को विराट कोहली ने स्वीकार कर लिया है और इसे पूरा करते हुए तीन अन्य लोगों को इसमें टैग किया। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल है, जिसे पीएम मोदी ने भी विराट को चैलेंज को स्वीकार कर लिया है। पीएम मोदी ने कहा है कि मैं जल्द ही अपनी फिटनेस का वीडियो जारी करुंगा। इस बीच अब इस पूरे घटनाक्रम में एक नया मोड़ आ गया है। विराट कोहली के फिटनेस चैलेंज को पीएम मोदी द्वारा स्वीकार किए जाने के बाद अब कांग्रेस ने उन्हें अपनी डिग्री दिखाने का चैलेंज दे दिया है। कांग्रेस ने इसे ‘डिग्री फिट है चैलेंज’ नाम दिया है।

कांग्रेस प्रवक्ता संजय झा ने अपनी डिग्रियां सार्वजनिक करते हुए पीएम मोदी से भी अपनी डिग्री सार्वजनिक करने को कहा है। उन्होंने अपनी डिग्री ट्विटर पर डाली है। कांग्रेस प्रवक्ता संजय झा ने ट्वीट कर अपनी बीए, एमए और एमबीए की डिग्री साझा की और पीएम मोदी से कहा कि मुझे आपकी प्रतिक्रिया की आशा है। कांग्रेस प्रवक्ता संजय झा ने ट्वीट कर कहा, “डियर पीएम मोदी, मैं सोशल मीडिया पर अपनी बीए, एमए और एमबीए की डिग्री डाल रहा हूं। क्या आप ‘डिग्री फिट है चैलेंज’ के लिए तैयार है।” उन्होंने आगे कहा कि मैं आपके जवाब का इंतजार करुंगा।

वहीं, कांग्रेस के ‘डिग्री फिट है चैलेंज’ सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए वरिष्ठ पत्रकार सागरिका घोष ने भी अपनी ऑक्सफोर्ड की डिग्री शेयर की है।

बता दें कि पीएम मोदी की डिग्री को लेकर पहले भी विवाद हो चुका है। अभी हाल ही में दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) ने दिल्ली हाई कोर्ट में सूचना का अधिकार यानी आरटीआई कार्यकर्ताओं के उस आवेदन का विरोध किया है, जिसमें उन्होंने एक मामले में अपना पक्ष सुने जाने की मांग की है। उस मामले में विश्वविद्यालय ने केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) के उस निर्देश को चुनौती दी है, जिसमें विश्वविद्यालय के उन सभी छात्रों के रिकॉर्ड के निरीक्षण की अनुमति दी थी जिन्होंने 1978 में बीए की परीक्षा पास की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उसी वर्ष विश्वविद्यालय से बीए की परीक्षा पास की थी। विश्वविद्यालय ने न्यायमूर्ति राजीव शकधर की पीठ के समक्ष दावा किया कि यह आवेदन मामले में ‘सस्ती लोकप्रियता’ हासिल करने के लिए दाखिल किया गया है।  समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक, डीयू की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलीसीटर जनरल (एएसजी) तुषार मेहता ने आरटीआई कार्यकर्ताओं की याचिका का जोरदार विरोध किया। उन्होंने कहा कि यह सार्वजनिक मंच नहीं हो सकता और ये सस्ती लोकप्रियता पाने के हथकंडे हैं।

राहुल गांधी ने दिया पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर चुनौती

विराट कोहली की तरह ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी प्रधानमंत्री मोदी को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर चैलेंज दिया है। फिटनेस चैलेंज अभियान के सहारे राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर लिखा, ‘डियर PM, यह देखकर अच्छा लगा कि आपने विराट कोहली के फिटनेस चैलेंज को स्वीकार किया। अब मैं भी आपको एक चैलेंज देता हूं।’ राहुल ने आगे लिखा कि आप पेट्रोल-डीजल के दाम कम करिए या कांग्रेस पार्टी राष्ट्रव्यापी आंदोलन कर आपको ऐसा करने के लिए मजबूर करेगी। कांग्रेस अध्यक्ष ने अखिरी में लिखा, ‘मैं आपके जवाब का इंतजार कर रहा हूं।’

तेजस्वी यादव ने भी दिया चैलेंज

इससे पहले बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी विराट कोहली की तरह ही प्रधानमंत्री मोदी को तीन चैलेंज दिए हैं। तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा, ”मैं विराट कोहली से मिले फिटनेस चैलेंज को नरेंद्र मोदी द्वारा स्वीकार करने के खिलाफ नहीं हूं। मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आप युवाओं को रोजगार देने, किसानों को राहत देने और दलितों-अल्पसंख्यों के खिलाफ अंहिसा का वादा करने की चुनौती स्वीकार करिए। क्या मोदी सर मेरी चुनौती स्वीकार करेंगे?”

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here