“मोदी सरकार के विदेश मंत्री, वित्त मंत्री, रक्षा मंत्री, रेल मंत्री, पेट्रोलियम मंत्री और शिक्षा मंत्री चुनाव नहीं लड़ रहे हैं, पर लड़ कौन रहा है? निरहुआ, सनी देओल और प्रज्ञा ठाकुर”

0

कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर का नाम ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद लोकप्रिय नेताओं की सूची में सबसे ऊपर आता है। उनके एक-एक ट्वीट पर यूजर्स की पैनी नजर रहती है। इसके साथ ही वह जितना राजनीति के लिए जाने जाते हैं, उससे कहीं ज्यादा अपनी अंग्रेजी के लिए प्रसिद्ध हैं। थरूर अपनी दमदार अंग्रेजी और भारी-भरकम शब्दों के प्रयोग के लिए जाने जाते हैं।

अकबर खान
फाइल फोटो- कांग्रेस सांसद शशि थरूर

सोशल मीडिया पर लोगों को अंग्रेजी के farrago (फरागो) जैसे शब्द से परिचित कराने वाले थरूर अक्सर अपने ट्वीट में अंग्रेजी के ऐसे शब्द लिखते हैं जिसका मतलब खोजने के लिए लोगों को इंटरनेट और डिक्शनरी का सहारा लेना पड़ता है। इस बीच उनका एक नया ट्वीट सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। लेकिन सबसे हैरानी की बात यह है कि थरूर ने वायरल हो रहे इस ट्वीट को अंग्रेजी नहीं, बल्कि हिंदी में किया है।

केरल के तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से एक बार फिर चुनाव लड़ रहे कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधा है। थरूर द्वारा बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं की जगह अभिनेताओं और मालेगांव बम विस्फोट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के चुनाव लड़ने पर किया गया ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

थरूर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी नेतृत्व पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, “मोदी सरकार के विदेश मंत्री, वित्त मंत्री, रक्षा मंत्री, रेल मंत्री, पैट्रोलियम मंत्री, शिक्षा मंत्री, कोयला मंत्री, सब चुनाव नहीं लड़ रहें है; लोकसभा स्पीकर चुनाव नहीं लड़ रही है; मार्गदर्शक मंडल चुनाव नहीं लड़ रहा है. पर लड़ कौन रहा है? निरहुआ यादव, सनी देओल, प्रज्ञा ठाकुर!”

बता दें कि लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी और लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन जैसे वरिष्ठ नेताओं को इस बार बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में टिकट नहीं दिया है। आडवाणी की पारंपरिक गांधीनगर सीट से इस बार बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, बीजेपी ने मुरली मनोहर जोशी की जगह कानपुर से सत्यदेव पचौरी को टिकट दिया है। जबकि सुमित्रा महाजन की जगह BJP ने शंकर लालवानी को टिकट दिया है।

इसके अलावा विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पहले ही स्वयं चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर चुकी हैं। माना जा रहा है कि पार्टी नेतृत्व के ऐसे कदम की संभावना के मद्देनजर सुषमा स्वराज सहित कलराज मिश्र और भगत सिंह कोशियारी जैसे वरिष्ठ नेताओं ने पहले ही आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर दी थी।

वहीं, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, कोयला एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल, शिक्षा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान राज्यसभा के सांसद हैं, जिस वजह से केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के ये सभी वरिष्ठ मंत्री लोकसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं।

बता दें कि सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव के चार चरण संपन्न हो चुके हैं, अब सिर्फ तीन चरण के मतदान बाकी हैं। पांचवे चरण का मतदान 6 मई, छठे चरण का मतदान 12 मई और सातवें और आखिरी चरण का मततदान 19 मई को संपन्न होगा। वहीं, चुनाव के नतीजे 23 मई को घोषित किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here