‘जिस दिन प्रधानमंत्री ने विश्व व्यापार को भारत में निवेश के लिए आमंत्रित किया, उस दिन अहमदाबाद हिंसा की आग में जल रहा था’

0

देश भर के कई राज्यों में करणी सेना के भारी विरोध और प्रदर्शन के बीच संजय लीला भंसाली की अब तक की सबसे विवादित फिल्म गुरुवार (25 जनवरी) को ‘पद्मावत’ सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। लेकिन राजपूत समाज विशेषकर करणी सेना की ओर से फिल्‍म का हिंसक विरोध प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है। हिंसक प्रदर्शनों के बीच मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा है कि उसके सदस्य ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी इस फिल्म का प्रदर्शन राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में नहीं करेंगे। फिल्म का विरोध कर रही करणी सेना ने गुरुवार को देशव्यापी बंद का ऐलान किया है। फिल्म के हिंसक विरोध को देखते हुए सभी मल्टीप्लेक्सों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। गुरुग्राम और नोएडा में स्कूल की छुट्टी कर दी गई है। सुप्रीम कोर्ट से संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म ‘पद्मावत’ को रिलीज करने की हरी झंडी मिलने के बावजूद राजधानी दिल्ली, गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा समेत कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रुप ले लिया है।

करणी सेना के कार्यकर्ताओं द्वारा अहमदाबाद, जयपुर, उदयपुर, मथुरा, भोपाल, ग्वालियर, इंदौर, उज्जैन, रतलाम और मुरैना, मुजफ्फरपुर में प्रदर्शन किया जा रहा है। भोपाल में तो प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों में आग लगा दी है। देश भर में करणी सेना विरोध के नाम पर खुलेआम गुंडागर्दी कर रही है और सिनेमाघर के मालिकों को धमकियां दे रही है, लेकिन राज्य और केंद्र की सरकारें इन गुंडों के आगे नतमस्तक हो गई है।

कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने स्कूली बच्चों की बस पर किए गए हमले का कड़ा विरोध करते हुए कहा कि बच्चों के खिलाफ हिंसा को जायज ठहराने के लिये कोई भी कारण बड़ा नहीं हो सकता। राहुल ने ट्वीट कर कहा कि, ‘बच्चों के खिलाफ हिंसा को जायज ठहराने के लिये कोई भी कारण बड़ा नहीं हो सकता। घृणा और हिंसा कमजोरों का हथियार होता है। भाजपा घृणा और हिंसा का उपयोग कर देश में आग लगा रही है।’

वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने दावोस में विश्व के निवेशकों को भारत की तरफ आकर्षित करने के प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों को लेकर उन पर हमला बोलते हुए कहा कि जिस दिन प्रधानमंत्री ने विश्व व्यापार को भारत में आमंत्रित किया, उसी दिन अहमदाबाद में भीड़ द्वारा हिंसा की गई। चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा कि, “जब प्रधानमंत्री वैश्विक व्यापारियों को भारत में निवेश के लिए आमंत्रित कर रहे थे, उस समय अहमदाबाद में उपद्रवी हिंसा फैला रहे थे।”

इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने गुरूग्राम में स्कूली बस पर हमले को अस्वीकार्य और भर्त्सना योग्य बताया। उन्होंने कहा कि इस हमले के कारण बच्चों एवं यात्रियों की जान खतरे में पड़ गई। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘हरियाणा में कानून व्यवस्था का फिर दीवाला निकला। गुड़गांव में अराजक तत्वों द्वारा अबोध बच्चों की स्कूल बस पर खौफनाक हमला। रोडवेज़ की बस को किया आग के हवाले। शासन-प्रशासन का कहीं नहीं नामोनिशां। बच्चों व बेक़सूर नागरिकों का क्या कसूर? फिर नाकारा साबित हुई खट्टर सरकार!’

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here