कांग्रेस नेता अंधीर रंजन चौधरी ने पीएम मोदी को लेकर दिए गए आपत्तिजनक बयान पर दी सफाई

0

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘बड़े सेल्समैन’ हैं जो इस चुनाव में अपने उत्पाद को बेचने में सफल रहे, जबकि कांग्रेस अपना उत्पाद बेचने में विफल रही। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए चौधरी ने यह भी आरोप लगाया कि राजग सरकार को अपनी प्रशंसा सुनने का नशा है और वह अतीत की कांग्रेस सरकारों की उपलब्धियों को स्वीकार नहीं करना चाहती है।

अंधीर रंजन चौधरी

इस दौरान उन्होंने केंद्रीय मंत्री एवं ओडिशा से भाजपा सांसद प्रताप चंद सारंगी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा में स्वामी विवेकानंद की उपमा दिए जाने पर आपत्ति जताया। चौधरी ने कहा कि मां गंगा और गंदी नाली की तुलना नहीं की जा सकती। इसको लेकर सत्ता पक्ष और विपक्षी सदस्यों के बीच नोकझोंक की स्थिति उत्पन्न हो गई। इस पर पीठासीन सभापति राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि जो शब्द असंसदीय होगा वह रिकॉर्ड में नहीं जाएगा।

बहरहाल, विवाद बढ़ने पर चौधरी ने कहा कि मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया। अगर किसी की भावना को चोट पहुंची है तो मैं माफी मांगता हूं। अपने बयान पर लोकसभा में हंगामें पर समाचार एजेंसी एएनआई से सफाई देते हुए कहा, “यह गलतफहमी है, मैंने ‘नाली’ नहीं कहा। अगर पीएम को इससे दुख पहुंचा है तो मुझे खेद है। मेरा उद्देश्य उन्हें दुख पहुंचाना नहीं था। अगर फिर भी उन्हें दुख पहुंचा है तो मैं उनसे व्यक्तिगत रूप से उनसे माफी मांग लूंगा। मेरी हिंदी सही नहीं है, नाली से मेरा अर्थ ‘नहर’ था।”

उन्होंने इस बयान पर सफाई देते हुए यह भी कहा कि भाजपा के एक सांसद ने पीएम मोदी की तुलना स्वामी विवेकानंद से उनके नामों में समानता के कारण की और उन्हें समान बताया। यह बंगाल की भावनाओं को आहत करता है। इसलिए मैंने कहा ‘तुम मुझे उकसा रहे हो, अगर आप ऐसा बोलेंगे तो मैं कहूंगा कि आप गंगा की तुलना नाली से कर रहे हो।’

लोकसभा में चर्चा के दौरान आजादी के बाद रक्षा, अर्थव्यवस्था, प्रौद्योगिकी और विभिन्न क्षेत्रों में देश की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए चौधरी ने कहा कि अगर सरकार अभिभाषण में प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का भी जिक्र करती तो यह साबित होता कि वह ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के कथन को मानती है।

सोनिया-राहुल गांधी को जेल में क्यों नहीं डाला?

सत्तापक्ष के कुछ सदस्यों द्वारा ‘2जी मामले’ का उल्लेख करने पर कांग्रेस नेता ने कहा कि वह सरकार से पूछना चाहते हैं कि अगर भ्रष्टाचार हुआ था तो आपने सोनिया गांधी और राहुल गांधी को जेल में क्यों नहीं डाला? आप लोग सिर्फ बातें करते हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ‘बड़े सेल्समैन’ हैं और इस चुनाव में उन्होंने अपने उत्पाद को अच्छी तरह बेचा। कांग्रेस अपने उत्पाद को बेचने में विफल रही, यह बात हम स्वीकार करते हैं।

चौधरी ने कहा कि यूपीए सरकार के समय आर्थिक विकास की दर आठ फीसदी से अधिक थी, जबकि इस सरकार में विकास दर छह फीसदी से नीचे आ गई और बेरोजगारी भी 45 वर्षों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा, ‘‘एनडीए सरकार की नयी पहचान, ऊंची दुकान और फीका पकवान।’’

अभिनंदन की मूंछों को ‘राष्ट्रीय मूंछ’ घोषित करने की मांग

बालाकोट एयर स्ट्राइक का जिक्र करते हुए लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की तारीफ की और कहा कि उन्हें पुरस्कृत करना चाहिए। कांग्रेस नेता ने इसके साथ ही कहा कि अभिनंदन की मूंछों को ‘राष्ट्रीय मूछ’ घोषित करनी चाहिए। उन्होंने मोदी सरकार से मांग करते हुए कहा, ‘अभिनंदन वर्तमान को उनकी वीरता के लिए पुरस्कार मिलना चाहिए और उनकी मूंछों को ‘राष्ट्रीय मूंछ’ घोषित करना चाहिए।’ बता दें कि अभिनंदन की मूंछों की तारीफ सोशल मीडिया पर कई बार हो चुकी है।

इस दौरान कांग्रेस नेता ने भारतीय जनता पार्टी के कुछ नेताओं के विवादित बयानों का हवाला दिया और कहा कि एक तरफ सरकार महात्मा गांधी का 150वां जन्मदिवस मनाने की बात कर रही है, दूसरी तरफ भाजपा के कुछ लोग बापू के हत्यारे गोडसे की तारीफ करते हैं। यह कैसा दोहरा मापदंड है? (इनपुट- पीटीआई/भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here