“जब मुल्ला को मस्जिद में राम नजर आए, पुजारी को मंदिर में रहमान नजर आए, दुनिया की सूरत बदल जाएगी, जब इंसान को इंसान में इंसान नजर आए”, लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी का शायराना अंदाज

0

राजस्थान के कोटा से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद ओम बिड़ला निर्विरोध लोकसभा अध्यक्ष चुन लिए गए हैं।राजग उम्मीदवार ओम बिरला को बुधवार को सभी द्वारा सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुना गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित विभिन्न दलों के नेताओं ने प्रस्ताव किया और कई अन्य नेताओं ने इनका अनुमोदन किया। बाद में पूरे सदन ने ध्वनिमत से अपना समर्थन दिया और फिर कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार ने बिरला को स्पीकर घोषित किया।

संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी (पीटीआई फाइल फोटो)

लोकसभा स्पीकर के तौर पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ओम बिड़ला के नाम को आगे किया, जिसका समर्थन सभी बड़े राजनीतिक दलों जिसमें कांग्रेस, टीएमसी, डीएमके और बीजेडी शामिल है, ने किया। लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने नवनिर्वाचित लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला की तारीफ करते हुए कहा कि कोटा एक कोचिंग इंस्टिट्यूट जैसा है। कोटा की कचौड़ी भी बहुत मशहूर है। यह हाउस खिचड़ी न बने, इसलिए कचौड़ी की तरह स्वादिष्ट आप हमें हर वक्त उपहार देंगे, यह हमारी आपसे उम्मीद हैं।

[Become our patron to support independent journalism. For details click here]

इस दौरान अधीर रंजन चौधरी ने दो शायरी पढ़कर लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों को ताली बजाने पर मजबूर कर दिया। पहले शायरी में चौधरी ने कहा, “जब मुल्ला को मस्जिद में राम नजर आए, जब पुजारी को मंदिर में रहमान नजर आए, दुनिया की सूरत बदल जाएगी, जब इंसान को इंसान में इंसान नजर आए।”

वहीं, एक अन्य शायरी में अधीर रंजन चौधरी ने नवनिर्वाचित लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला को शुभकामनाएं देते हुए कहा, “खुदा से क्या मांगू तेरे वास्ते, सदा खुशियों से भरे हों तेरे रास्ते, हंसी तेरे चेहरे पर रहे इसी तरह, खुशबू फूलों के साथ रहती है जिस तरह।”

बता दें कि अधीर रंजन चौधरी को मंगलवार को लोकसभा में कांग्रेस का नेता चुना गया। अधीर के अलावा कई अन्य नेता भी इस पद के लिए दौड़ में शामिल थे, लेकिन अधीर को अनुभव के आधार पर लोकसभा में कांग्रेस का नेता चुना गया।कांग्रेस को इस बार के लोकसभा चुनाव में सिर्फ 52 सीटें मिली हैं जो नेता प्रतिपक्ष का दर्जा प्राप्त करने के लिए जरूरी संख्या से कम है।

अधीर रंजन चौधरी पश्चिम बंगाल से पांच बार से सांसद हैं। वह 1999 के बाद से एक बार भी चुनाव नहीं हारे हैं। वह फिलहाल मुर्शिदाबाद जिले की बहरामपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। चौधरी अतीत में पश्चिम बंगाल विधानसभा का सदस्य रहने के साथ पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here