मध्य प्रदेश: ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले इन जिलों में कांग्रेस ने भंग की कार्यकारिणी

0
2

आगामी दिनों में होने वाले 24 विधानसभा क्षेत्रों के उपचुनाव से पहले ही कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई ने पांच जिलों की छह इकाइयों की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। ये इकाइयां कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले क्षेत्र की हैं। इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले जिलों के अध्यक्ष भी बदले गए थे। कांग्रेस की प्रदेश इकाई की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, जिला कांग्रेस कमेटी गुना ग्रामीण, गुना शहर, श्योपुर, शिवपुरी, विदिशा और अशोकनगर जिलों की कांग्रेस कमेटियों की कार्यकारिणी तत्काल प्रभाव से भंग कर दी गई हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया

प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री (प्रशासन) राजीव सिंह ने बताया कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों को नवीन कार्यकारिणी के गठन के लिए पत्र लिखा गया है, जिसमें कहा गया है कि वे जिले के वरिष्ठ कांग्रेसजनों, पदाधिकारियों, निर्वाचित जनप्रतिनिधियों से चर्चा एवं समन्वय स्थापित कर एक सप्ताह के अंदर प्रस्तावित सूची अनुमोदन के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी को प्रेषित करें।

इससे पहले, कांग्रेस ने 11 जगहों पर नए जिला अध्यक्षों की नियुक्ति की थी। इन 11 में से 5 ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले इलाके के शामिल थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले क्षेत्रों में शामिल श्योपुर, ग्वालियर ग्रामीण, विदिशा, सीहोर, शिवपुरी, गुना शहर, गुना ग्रामीण और होशंगाबाद के अध्यक्ष बदले गए थे।

बता दें कि, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस में रहते हुए जनसेवा में दिक्कत होने की बात कहकर ऐन राज्यसभा चुनाव के समय पार्टी छोड़ दी थी। भाजपा ने पार्टी में शामिल होते ही उन्हें राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया। लॉकडाउन के कारण राज्यसभा चुनाव भी लंबित है।

बता दें कि, मध्य प्रदेश में 24 सीटों पर उपचुनाव हैं। 24 में से 23 सीट पूर्व में कांग्रेस के पास थे। उसमें से 22 वो सीट हैं, जो कांग्रेस छोड़कर सिंधिया के साथ भाजपा में चले गए हैं। कांग्रेस जोर अजमाइश उन्हीं 22 सीटों पर कर रही है। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here