राहुल गांधी के नेतृत्व में राष्ट्रपित से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, कृषि कानूनों को तुरंत वापस लेने की मांग की

0

किसानों के मुद्दे पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की है। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने एक ज्ञापन सौंप कर तीनों कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग की।

राष्ट्रपित से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “राष्ट्रपति से हमने कहा कि ये जो कानून बनाए गए हैं ये किसान विरोधी हैं और इनसे किसानों, मजदूरों का नुकसान होने वाला है। मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि किसान हटेगा नहीं, प्रधानमंत्री को ये नहीं सोचना चाहिए कि किसान, मजदूर घर चले जाएंगे। सरकार को संसद का विशेष सत्र बुलाना चाहिए और इन कानूनों को वापस लेना चाहिए। विपक्षी पार्टियां किसानों-मजदूरों के साथ खड़ी है।”

राहुल गांधी ने कहा, “मैं एडवांस में चीज बोल देता हूं, मैंने कोरोना के बारे में बोला था कि नुकसान होने जा रहा है। उस समय किसी ने बात नहीं सुनी। आज मैं फिर से बोल रहा हूं किसान, मजदूर के सामने कोई भी शक्ति खड़ी नहीं हो सकती।”

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि, “चीन ने भारत की हजारों किलोमीटर जमीन छीन ली है, पीएम उनके बारे में क्यों नहीं कहते? एक तरफ आप सिस्टम को तोड़ रहे हो, किसान, मजदूर को मार रहे हो और बाहर से ताकतें देख रही हैं, कह रही हैं कि नरेंद्र मोदी हिन्दुस्तान को कमजोर कर रहा है, हमारे लिए अच्छे अवसर बनने जा रहे हैं।”

राहुल गांधी ने आगे कहा कि, “पीएम मोदी पूंजीपतियों के लिए पैसे बना रहे हैं। जो भी उनके खिलाफ खड़ा होने की कोशिश करेगा, उसे आतंकी कहा जाएगा। चाहे किसान हो, मजदूर हो या मोहन भागवत ही क्यों ना हों।” पार्टी नेताओं को हिरासत में लिए जाने पर राहुल गांधी ने कहा कि, “भारत में लोकतंत्र नहीं है। यह आपकी कल्पना में हो सकता है, लेकिन वास्तव में नहीं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here