राजस्थान में BJP को बड़ा झटका, गुजरात में शानदार प्रदर्शन के बाद जिला परिषद की सभी चारों सीटों पर कांग्रेस ने किया कब्जा

0

गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन के बाद पार्टी ने मंगलवार (19 दिसंबर) को राजस्थान के स्थानीय निकाय उपचुनाव में जिला परिषद की सभी चार सीटों पर कब्जा कर लिया। स्थानीय निकायों के परिणामों में कांग्रेस ने सभी चार जिला परिषद की सीटों, 27 में से 16 पंचायत समितियों और छह नगर पालिकाओं की सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं, सत्तारूढ़ बीजेपी 10 पंचायत समिति और सात नगरपालिका सीटों पर जीत दर्ज कर सकी।

(AP Photo/Ashwini Bhatia)

न्यूज एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार चार जिला परिषदों में से सत्तारूढ़ बीजेपी के पास पिछले चुनाव में एक सीट थी, जो इस बार कांग्रेस की झोली में चली गई। स्थानीय निकाय उप चुनाव 19 जिलों के 27 पंचायत समितियों, 12 जिलों की 14 नगरपालिकाओं और चार जिला परिषदों में गत 17 दिसंबर को मतदान हुआ था।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने स्थानीय निकाय उपचुनाव के परिणामों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि निकाय उपचुनावों के परिणामों ने यह सिद्ध कर दिया है कि अब बीजेपी की राजस्थान में उल्टी गिनती शुरू हो गई है। एक बयान में उन्होंने कहा कि कांग्रेस पिछले चार सालों में जनता की भावनाओं को सामने लाती रही जिससे आम जनता में कांग्रेस के प्रति विश्वास बढ़ा है।

उन्होंने विश्वास जताया कि प्रदेश में होने वाले आगामी अलवर और अजमेर लोकसभा सीटों ओर मांडलगढ विधानसभा सीट पर उपचुनाव में भी जनता कांग्रेस को जीत दिलाएगी। स्थानीय निकाय चुनाव के नगरपालिका परिणाम में मुख्यमंत्री वसुंधरा के सांसद पुत्र दुष्यंत सिंह के गढ़ माने जाने वाले बारां जिले के दो वार्ड पर सत्ताधारी बीजेपी को मिली हार पार्टी के लिए एक झटका है।

वहीं, बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि स्थानीय निकाय परिणाम पार्टी के लिये अच्छे रहे और कई ऐसी सीटें है जो विपक्ष कांग्रेस के पास थी और बीजेपी ने छीन ली। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात की 182 सीटों में से बीजेपी को 99 पर जीत मिली है। जबकि कांग्रेस ने सहयोगी दलों के साथ यहां 80 सीटें जीती हैं।

आपको बता दें कि गुजरात में बीजेपी को पूरी उम्मीद थी कि उसे 150 सीटें तो कम से कम मिलेंगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और बीजेपी को केवल 99 सीटों पर संतोष करना पड़ा। वहीं कांग्रेस बहुमत से भले ही काफी पीछे है लेकिन पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के सघन प्रचार अभियान और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथ से कांग्रेस को उम्मीद से ज्यादा फायदा मिला है।

वर्ष 2012 के गुजरात विधानसभा चुनाव में 182 सीटों वाली सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी को 115, कांग्रेस को 61 और अन्य दलों को छह सीटों पर जीत मिली थी। गुजरात के विधानसभा चुनावों के परिणाम घोषित होने के दौरान कई सीटों पर बेहद कांटे की टक्कर देखने को मिली है। परिणाम पर गहराई से गौर किया जाए तो करीब आधा दर्जन सीटें ऐसी हैं जिस पर बीजेपी ने 3 हजार से कम वोटों से जीत हासिल की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here