कोबरापोस्ट की तहकीकात में #BikauBollywood के गंदे राज आए सामने

0

मशहूर खोजी वेबसाइट कोबरापोस्ट ने भारतीय मनोरंजन उद्योग की 36 ऐसी हस्तियों को उजागर किया है, जो 2019 के लोकसभा चुनावों में अनुकूल माहौल बनाने में मदद करने के लिए पैसे लेकर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अनुकूल संदेश पोस्ट करके एक राजनीतिक पार्टी को बढ़ावा देने के लिए सहमत हुए हैं। इन हस्तियों में टीवी और फिल्मों के दिग्गज अभिनेता के आलावा गायक, सोशल मीडिया सेलिब्रिटी और स्टैंड-अप कॉमेडियन तक शामिल है।

कोबरापोस्ट

अभिनेताओं में कुछ उल्लेखनीय नाम हैं- सनी लियोन, अमीशा पटेल, महिमा चौधरी, राखी सावंत, एवलिन शर्मा, विवेक ओबेरॉय, जैकी श्रॉफ, टिस्का चोपड़ा, शक्ति कपूर, सोनू सूद, श्रेयास तलपडे, पुनीत इस्सर, सुरेंद्र पाल, पंकज धीर और उनके बेटे निकितिन धीर। दीपशिखा नागपाल, अखिलेंद्र मिश्रा, रोहित रॉय, राहुल भट, सलीम जैदी, अमन वर्मा, हितेन तेजवानी और पत्नी गौरी प्रधान, मिनीषा लाम्बा और कोएना मित्रा।

अन्य हस्तियों और गायकों में पूनम पांडे, अभिजीत भट्टाचार्य, कैलाश खेर, मीका सिंह और बाबा सहगल शामिल है। राजू श्रीवास्तव, सुनील पाल, राजपाल यादव, उपासना सिंह, कृष्ण अभिषेक और विजय ईश्वरलाल पवार कुछ ऐसे प्रसिद्ध हास्य कलाकार शामिल है। जिन्होंने कैमरे के सामने स्वीकार किया कि वो पैसे के बदले राजनीतिक दल को बढ़ावा दे सकते है।

इनके अलावा कोरियोग्राफर गणेश आचार्य और बिग बॉस की पूर्व प्रतियोगी संभावना सेठ भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट का उपयोग करके चुनाव अभियान में एक राजनीतिक पार्टी की मदद करने के लिए पैसे की पेशकश स्वीकार करते हुए कैमरे के सामने नजर आए।

कोबरापोस्ट के पत्रकारों ने एक गैर-मौजूद पीआर एजेंसी के प्रतिनिधियों के रूप में और नकली नामों का उपयोग करके इन हस्तियों से संपर्क किया। उन्होंने इन हस्तियों से एक सरल प्रश्न के साथ संपर्क किया, “क्या आप ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर किसी राजनीतिक पार्टी को विवेकपूर्ण तरीके से बढ़ावा देने के लिए तैयार होंगे?”

किसी शुल्क के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट का उपयोग करके संदेश पोस्ट करने के लिए सहमत होने वाली हस्तियां कोबरापोस्ट की एकमात्र चौंकाने वाली खोज नहीं हैं। कैमरे के सामने किए गए इस चौंकाने वाली तहकीकात में सामने आया कि उन्हें पैसे के बदले में अनिवार्य रूप से अपराध करने में कोई संकोच नहीं है। उदाहरण के लिए, उनमें से अधिकांश लोग नकद में पैसा लेने के लिए तैयार थे, जिसका दूसरे शब्दों में अर्थ है ‘काला धन’।

सनी लियोन ने कोबरापोस्ट के पत्रकारों से कहा कि अगर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने उनके पति डेनियल वेबर को भारत के प्रवासी नागरिक का दर्जा दिया तो वह बीजेपी का समर्थन करेंगी। बता दें कि पॉर्न स्टार से बॉलिवुड अभिनेत्री बनीं सनी लियोनी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री का जाना-माना हिस्सा हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक में उनकी भूमिका निभाने वाले अभिनेता विवेक ओबेरॉय इस सौदे के लिए इतने उत्सुक थे कि उन्होंने कैमरे के सामने कहा, ‘मैं आपको बताना चाहूँगा मेरे जाने से पहले औपचारिकताओं को बंद कर दें ताकि मैं इसे सितंबर से शुरू कर सकूं, क्योंकि इसके बाद मैं केरल और वहां से अज़रबैजान जाऊंगा। मैं कहीं से भी ट्वीट कर सकता हूं। (अपने मैनेजर की ओर मुड़ते हुए) आप उन सभी के साथ इस पर चर्चा कर सकते हैं। उसके बाद मैं, आपकी और मेरी सोशल मीडिया टीम एक चरण की योजना बनाएगी।

अभिनेता सोनू सूद ने कोबरापोस्ट के पत्रकारों द्वारा पेश किए गए कार्य को करने के लिए 20 करोड़ रुपये मांगे। बाद में उन्होंने 2.50 करोड़ रुपये प्रति माह की मांग की। उन्होंने कहा कि पांच या सात ट्वीट हो सकते हैं। मेरे संदेश बहुत मजबूत और अच्छे होंगे। वहीं, बॉलीवुड के पूर्व गायक अभिजीत भट्टाचार्य ने कहा कि वे अपने मोबाइल फोन का उपयोग बीजेपी की तरक्की के लिए वीडियो बनाने के लिए करेंगे, जो स्वाभाविक दिख रही हैं।

यहां भी पूर्व गायक ने मुसलमानों के खिलाफ जहर उगलने का मौका नहीं गंवाया। हैदराबाद के बीजेपी विधायकों में से एक द्वारा दिए गए एक विवादास्पद बयान का उल्लेख करते हुए भट्टाचार्य ने कहा, इस साथी ने सही काम किया। हैदराबाद के बीजेपी विधायक राजा सिंह मुझसे मिलने आते हैं। वह हैदराबाद के (योगी आदित्यनाथ) हैं। उन्होंने कहा था कि रोहिंग्याओं को कोई आश्रय क्यों दें, उन्हें गोली क्यों नहीं मारनी चाहिए। यह रवैया होना चाहिए… नहीं, मैं कहूंगा कि रोहिंग्याओं को गोली मारो और उन्हें समर्थन देने वालों को गोली मार दो। पहले उनके समर्थकों को मारें और फिर उन्हें।

शक्ति कपूर ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट का उपयोग कर बीजेपी के एजेंडे को पूरी तरह से बढ़ाने में कोई संकोच नहीं था क्योंकि उन्होंने कहा कि वह भगवा पार्टी के समर्थक है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उन्हें 2014 में उत्तराखंड के लिए अपना स्टार प्रचारक बनाया था, जब उन्होंने और मोदी ने एक ही मंच से सार्वजनिक भाषण दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here