गोमती रिवर फ्रंट पर सीएम योगी ने की समीक्षा बैठक, अफसरों की ली क्लास

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को को लखनऊ के गोमती रीवर फ्रंट पहुंचे। यहां पर उन्होंने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की, यहां उनके साथ उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, स्वाति सिंह, रीता बहुगुणा जोशी और ब्रजेश पाठक भी मौजूद रहे।

योगी
फोटो- NDTV

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गौमती रिवर फ्रंट से जुड़े हुए इंजीनियर और अधिकारियों के साथ बैठक की और अव्यवस्था देख अधिकारियों को फटकार भी लगाई। सीएम योगी ने पूछा गोमती का पानी गंदा क्यों है? क्या सारे पैसे पत्थरों मे लगा दिए। प्रोजेक्ट की लागत इतनी ज्‍यादा क्यों हुई? कहा प्रोजेक्ट कॉस्ट ज्यादा है इसे संशोधित करें।

मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को निर्देंश दिया कि, मई तक गोमती का पानी साफ हो जाना चाहिए एक साल के भीतर पूरा करें प्रोजेक्ट। इस दौरान योगी ने करीब 40 मिनट अधिकारियों के साथ बैठक की।

एबीपी न्यूज़ के मुताबिक, गोमती नदी के किनारे जॉगिंग पार्क, वाल्किंग पार्क, चिल्ड्रन पार्क, म्यूजिकल फाउंटेन, सायकिल ट्रैक, फ़ूड प्लाजा, फुटबॉल कोर्ट, फ्लावर शो, ओपन एयर थियेटर, एम्पीथियेटर भी बन रहा है। यहां देश का सबसे ऊंचा फाऊंटेन लगाने की भी तैयारी है, नदी में बोटिंग और रिवर राफ्टिंग भी हो सकेगी।

बता दें कि, गोमती रिवर फ्रंट पर मुख्यमंत्री के लिए बैठने के लिए एक पंडाल भी बनाया गया है। गोमती रिवर फ्रंट का निरीक्षण करने के लिए सीएम निर्धारित समय पर वीवीआईपी गेस्ट हाउस से निकले थे।

सीएम के गोमती रिवर फ्रंट के निरीक्षण को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था सख्त की गई। अखिलेश यादव सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट गोमती रिवर फ्रंट को भाजपा सरकार पूरा करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here