राजस्थान: BJP विधायक ने अपनी ही सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, भ्रष्टाचार के लगाए गंभीर आरोप

0

राजस्थान के सांगानेर से भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के विधायक और वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी ने अपनी ही पार्टी की सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया का नाम लेकर कहा कि जब तक राज्य में मैडम सीएम हैं तब तक भ्रष्टाचार समाप्त नहीं हो सकता।

राजस्थान
फोटो- पत्रिका

लोकभारत न्यूज़ बेवसाइट की ख़बर के मुताबिक, सोमवार(28 अगस्त) को विधायक घनश्याम तिवाड़ी अपने लोकसंग्रह अभियान के एक कार्यक्रम में प्रेस कॉन्फ्रेंस को सम्बोधित करते हुए कहा कि यदि पीएम मोदी भ्रष्टाचार मिटाने के प्रति गंभीर हैं तो उन्हें इसकी शुरुआत राजस्थान से करनी होगा। इसके लिए उन्हें पहले राज्य की सीएम को हटाना पड़ेगा।

Also Read:  तीन तलाक को सही साबित करने के लिए इस्लाम और कुरान का अपमान कर रहे हैं- बाबा रामदेव

साथ ही घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव मैडम के नेतृत्व में लड़ा गया तो मैं चुनाव नहीं लडूंगा और भाजपा उनके नेतृत्व में चुनाव हारेगी। पार्टी की खिलाफत को लेकर केंद्रीय नेतृत्व की ओर से दिए गए नोटिस के सवाल पर तिवाड़ी ने कहा कि मैंने अपना जवाब दे दिया है, अब कार्रवाई मुझ पर नहीं मैडम पर होगी।

Also Read:  पूर्व प्रधान न्यायाधीश खेहर बोले- 'हिंदुत्व की राजनीति भारत के हित में नहीं, वैश्विक शक्ति बनने में बाधक'

गौरतलब है कि बीजेपी नेता घनश्याम तिवाड़ी पहले भी राज्य सरकार पर कई गंभीर आरोप लगा चुके हैं, उनका आरोप है कि राज्य की वसुंधरा सरकार भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रही है।

बता दें कि, इससे पहले राजस्थान के अलवर जिले के रामगढ से बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने अपनी ही पार्टी की सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए मंगलवार(4 जुलाई) को पुलिस प्रशासन की निष्क्रियता के विरोध में रामगढ में सैंकडों कार्यकर्ताओं के साथ धरना दिया था।

Also Read:  दिल्ली के बाद अब छत्तीसगढ़ की BJP सरकार ने तेज आवाज वाले पटाखों की बिक्री पर लगाया बैन

ज्ञानदेव आहूजा ने धरना देने के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नाम एक ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा। ज्ञापन में ज्ञानदेव आहूजा ने पुलिस प्रशासन पर ‘लव जिहाद’ को पनपाने, अवैध खनन में सहयोग करने समेत अन्य कई आरोप लगाते हुए सम्बधित पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कडी कार्वाई की मांग की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here