दिल्ली: मायापुरी में सीलिंग को लेकर बवाल, स्थानीय लोग और सुरक्षा बलों के बीच झड़प, देखिए वीडियो

0

देश की राजधानी दिल्ली के मायापुरी में शनिवार को सीलिंग करने पहुंची टीम को भारी विरोध झेलना पड़ा। दरअसल, एनजीटी के फैसले पर अमल करते हुए एमसीडी के अधिकारी मायापुरी में कारखानों को बंद करने पहुंचे तो स्थानीय लोग भड़क गए और उन्होंने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। इसके बाद हालात को काबू पाने के लिए पुलिस फोर्स को लाठीचार्ज भी करना पड़ा।

मायापुरी

मायापुरी के कबाड़ मार्केट में नैशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल (NGT) के आदेश पर एमसीडी के अधिकारी यहां मौजूद करीब 850 फैक्ट्रियों को सील करने पहुंचे थे। लेकिन सीलिंग करने पहुंची टीम को भारी विरोध झेलना पड़ा। स्थानीय लोगों ने जमकर बवाल करने के अलावा तोड़फोड़ भी की। इस दौरान लोगों ने पुलिस की टीम पर भी हमला बोल दिया। इसके बाद हालात को काबू पाने के लिए पुलिस फोर्स को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। इस लाठीचार्ज में कुछ लोगों के घायल होने की खबर है।

सीलिंग करने वाली टीम को पहले ही मायापुरी में बवाल होने की आशंका थी और इसी वजह से टीम के साथ दिल्ली पुलिस के अलावा सीआरपीएफ और आईटीबीपी के जवान भी मौजूद थे। जानकारी के मुताबिक, बाजार में फिलहाल तनाव की स्थिति बनी हुई है।

घटना से जुड़े कुछ वीडियो भी सामने आए है, जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहें है। वीडियो में दिख रहा है कि, कैसे सुरक्षा बलों को स्थानिय लोगों का विरोध झेलना पड़ रहा है।

पुलिस की कार्रवाई को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। केजरीवाल ने ट्वीट किया “अगर दिल्ली पूर्ण राज्य होती तो हम 24 घंटे में सीलिंग रुकवा देते। 5 साल में केंद्र की भाजपा सरकार ने दिल्ली व्यापारियों पर ख़ूब ज़ुल्म ढाए हैं। मेरी दिल्ली के व्यापारियों से अपील- वोट डालने जाओ तो एक एक लाठी का बदला लेना। इस बार झाड़ू को वोट देना ताकि भविष्य में सीलिंग ना हो सके।”

एक अन्य ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा, “अपने ही व्यापारियों को इस तरह पीटना बेहद शर्मनाक है। व्यापारियों ने हमेशा धन और वोट से भाजपा का साथ दिया। बदले में भाजपा ने उनकी दुकानें सील की और उनको लाठियों से पीटा। चुनाव में भी व्यापारियों पर इतना बर्बर लाठी चार्ज? भाजपा साफ़ कह रही है- नहीं चाहिए भाजपा को व्यापारियों का साथ।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here