दिल्ली: मुखर्जी नगर में पुलिसकर्मियों और बुज़ुर्ग सिख ऑटो ड्राइवर के बीच झड़प, 3 पुलिसकर्मी सस्पेंड

0

देश की राजधानी दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके में रविवार शाम को पुलिसकर्मियों और सिख ऑटो ड्राइवर के सड़क पर काफी देर तक खूनी झड़प हुई। बताया जा रहा है कि, यहां सिख ग्रामीण सेवा चालक और पुलिसकर्मियों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया, इस विवाद के चलते पुलिस कर्मियों ने सिख ऑटो ड्राइवर को सड़क पर पीटना शुरू कर दिया। झड़प की इस घटना का वहां मौजूद लोगों ने वीडियो बना लिया, जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

दिल्ली

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बताया जा रहा है कि मुखर्जी नगर इलाके में रविवार शाम ग्रामीण सेवा का वाहन पुलिस की गाड़ी से टकरा गया था, इस बात को लेकर पुलिसवाले और चालक में कहासुनी हो गई। आरोप है कि जिसके बाद टैम्पो के ड्राइवर ने तलवार (कृपाण) निकाल कर पुलिसवाले के सिर पर मार दिया। इसके बाद उसे पकड़ने गए मुखर्जी नगर थाने के पुलिस कर्मियों ने बड़ी मुश्किल से टेंपो चालक और उसके लड़के को काबू में लेकर हिरासत में लिया। इस दौरान करीब एक दर्जन पुलिसकर्मियों ने उस पर लात-घूंसे और लाठी-डंडे बरसाए।

पुलिस का दावा है कि इस झड़प में दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इनमें एएसआई देवेंद्र और एएसआई योगराज हैं। पुलिस की पिटाई में घायल हुए ड्राइवर की पहचान गुरजीत सिंह के रूप में हुई है। घटना के समय गुरजीत के साथ ही एक लड़के को भी पुलिसकर्मी पीटते नजर आ रहे हैं। ड्राइवर को पुलिसकर्मियों ने लात-घूंसे और लाठी-डंडे से बुरी तरह पीटा। दिल्ली पुलिस ने किसी तरह टैम्पो ड्राइवर को हिरासत में लिया और उसे लोकल थाने लेकर आई। सोशल मीडिया पर इस घटना को लेकर दिल्ली पुलिस के खिलाफ तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं।

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के प्रेजिडेंट और दिल्ली के राजौरी गार्डन विधानसभा के सदस्य मनजिंदर सिंह सिरसा ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “दिल्ली पुलिस ने गुंडागर्दी की सारी हदें पार की। मुखर्जी नगर में ऑटो ड्राइवर गुरजीत सिंह के साथ बिना बात के मारपीट की और उसकी पगड़ी पर पैरों से प्रहार किया! मैं वीडियो में नज़र आ रहे
दिल्ली पुलिस कर्मियों को सरेआम बेइज़्ज़त करके बरखास्त करने की माँग करता हूँ।”

एक अन्य ट्वीट में सिरसा ने लिखा, “कल मैं ख़ुद पुलिस कमिश्नर जी से मिल के इन कर्मियों के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज करवाऊँगा और चाहे मुझे होम मिनिस्ट्री तक जाना पड़े या कोर्ट तक भी जाना पड़े… मैं इन पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करवाकर ही रहूंगा।”

सोमवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस मामले की निष्पक्ष तौर पर जांच हो। इसके साथ ही उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग भी की है।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि, “यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। हम घटना की निंदा करते हैं। मैं एलजी और गृह मंत्री से अपील करता हूं कि वे आरोपी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें।”

बीच सड़क पुलिस कर्मियों की कार्रवाई पर स्‍थानीय सिख समुदाय के लोगों ने नराजगी भी जताई। जनता का बढ़ता विरोध देखकर पुलिस बैकफुट पर आ गई। देर रात डीसीपी-उत्‍तर पश्चिम दिल्‍ली विजयंता आर्य ने मुखर्जी नगर थाने में तैनात एएसआई संजय मलिक, एएसआई देवेंदर, कॉन्‍स्‍टेबल पुष्‍पेन्‍द्र को तत्‍काल प्रभाव से निलंबित करने के आदेश जारी किए हैं।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले में उनको कुछ मोबाइल वीडियो मिली है। चालक को हिरासत में लेकर वारदात में इस्तेमाल तलवार जब्त कर ली गई है। पुलिस मामले की जांच कर रहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here