VIDEO: किसानों की तरफ से पेश किए गए शख्स का दावा- 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली में चार किसान नेताओं को गोली मारने की रची गई थी साजिश

0

दिल्ली-हरियाणा सिंघु बॉर्डर पर शुक्रवार रात में किसानों ने सनसनीखेज खुलासे किए। किसान यूनियन ने दावा किया है कि ट्रैक्टर मार्च के दौरान चार किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश रची गई थी और उन्होंने एक शूटर को पकड़ा भी है। कथित शूटर के चेहरे पर नकाब लगाकर उसे मीडिया के सामने लाया गया। पकड़े गए शूटर ने मीडिया के सामने दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। कथित शूटर ने खुलासा किया कि किसान नेताओं के घुटनों पर गोली मारने की योजना बनाई गई थी।

किसानों

सिंघु बार्डर पर किसान यूनियन की तरफ से पेश किए गए शख्श ने दावा किया कि 26 जनवरी को किसानों के ट्रैक्टर मार्च के दौरान हिंसा और चार नेताओं को गोली मारने की साजिश रची गई थी। शख्स ने बताया, ”हमारा प्लान यह था कि जैसे ही किसान ट्रैक्टर मार्च को लेकर दिल्ली के अंदर घुसने की कोशिश करेंगे तो दिल्ली पुलिस इन्हें रोकगी। इसके बाद हम पीछे से फायरिंग करेंगे ताकि पुलिस को लगे की गोली किसानों की तरफ से चलाई गई है।” शख्स ने आगे कहा, ”रैली के दौरान कुछ लोग पुलिस की वर्दी में भी होंगे ताकि किसानों को तितर बितर किया जा सके।”

कथित शूटर ने यह भी बताया कि मार्च के दौरान स्टेज पर मौजूद चार किसान नेताओं को शूट करने का आर्डर है। इन नेताओं की फोटो भी दे दी गई है।” इस दौरान शख्स ने प्रदीप नाम के एक एसएचओ का नाम भी लिया है, जो राई थाने का है और इनके पास अपना चेहरा कवर करके आता था। शख्स ने बताया कि हम लोगों ने उसका बैज देखा था। शख्स ने बताया कि जिन चार नेताओं को शूट करने का आदेश था, उनका नाम मुझे नहीं पता है, लेकिन उसकी फोटो हमें दी गई थी।” किसानों ने इस शक्स को अब दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया है।

बता दें कि, ट्रैक्टर मार्च निकालने को लेकर किसानों और पुलिस के बीच गतिरोध बना हुआ है। किसानों की तरफ से ट्रैक्टर मार्च पर हुई दिल्ली पुलिस के साथ बातचीत को लेकर एक बयान जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है, “पुलिस अधिकारियों के साथ हुई बैठक में पुलिस की तरफ से एक रोडमैप किसान नेताओं के सामने रखा गया है, जिसपर हम विचार करेंगे और रविवार को जवाब देंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here