भारत के चीफ जस्टिस एसए बोबडे की मां के साथ 2.50 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी, प्रॉपर्टी केयरटेकर ने ही फर्जी रसीदों से किया घोटाला; एक आरोपी गिरफ्तार

0

भारत के चीफ जस्टिस अरविंद बोबडे की मां के साथ 2.50 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। इस मामले में महाराष्ट्र की नागपुर पुलिस ने दो में से एक अपराधी को गिरफ्तार भी कर लिया है, जिसकी जानकारी शीर्ष अधिकारियों ने दी है।

एसए बोबडे

पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने बताया, “मुख्य आरोपी 49 वर्षीय तापस घोष को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि उसकी पत्नी फिलहाल जांच के दायरे में है।” जोन 2 की डिप्टी कमिश्नर (डीसीपी) विनीता साहू ने कहा कि उसे कोर्ट के सामने पेश किया गया है, जहां से उसे 16 दिसंबर तक पुलिस की हिरासत में भेज दिया गया है। अभी आगे की और जांच की जा रही है।

चीफ जस्टिस की मां मुक्ता बोबडे द्वारा अगस्त के महीने में सिताबल्डी पुलिस स्टेशन में दायर एक शिकायत के मुताबिक, नागपुर में आकाशवाणी स्क्वॉयर के पास ‘सीडन लॉन’ के नाम से उनकी एक संपत्ति है, जिसे शादी वगैरह के लिए किराए पर दिया जाता है। घोष पिछले 12 वर्षों से इसके मैनेजर के पद पर कार्यरत है, जिसके एवज में उसे सैलेरी और कमीशन मिलता है।

घोष अपनी मालकिन की जगह किराएदारों से किराया इकट्ठा करता था। ऐसे में मुक्ता बोबडे की उम्र और गिरते स्वास्थ्य का फायदा उठाते हुए घोष ने कथित तौर पर फर्जी रसीदें बनाई और 2.50 करोड़ रुपये का घोटाला किया।

वहीं, जब धोखधड़ी की बात सामने आई तो पुलिस में मामला दर्ज होने के बाद एसआईटी का गठन करके मामले की छानबीन की जा रही है। मामले की जांच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने बताया है कि तापस घोष को पहले एसआईटी पूछताछ में रखा गया था, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here