CJI रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट के दो अधिकारी किए बर्खास्त, अनिल अंबानी के खिलाफ अवमानना ​​मामले में अदालत के आदेश से की थी छेड़छाड़

0

भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट के दो अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया है। इन दोनों अधिकारियों पर रिलायंस कम्युनिकेशंस के चेयरमैन अनिल अंबानी से संबंधित एक अवमानना ​​मामले में अदालत के आदेश के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगा है।

सुप्रीम कोर्ट

जांच में सामने आया था कि सुप्रीम कोर्ट के दो असिस्टेंट रजिस्ट्रारों ने आदेश की कॉपी से छेड़छाड़ की थी। सीजेआई ने बुधवार को दोनों अधिकारियों को बर्खास्त करने का आदेश जारी किया। बर्खास्त किए गए दोनों कर्मचारियों की पहचान मानव शर्मा और तपन कुमार चक्रबर्ती के रुप में हुई हैं। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में कारोबारी अनिल अंबानी के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का केस चल रहा है।

अंग्रेजी अखबार ‘द टेलिग्राफ’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, विचाराधीन आदेश 7 जनवरी का था जब सर्वोच्च न्यायालय ने अनिल अंबानी को नोटिस जारी किया था। जिसमें जज ने अगली सुनवाई के दौरान अंबानी को कोर्ट में मौजूद रहने के आदेश दिए थे। हालांकि, वेबसाइट पर दिए गए आदेश में कहा गया कि, कथित आरोपी की व्यक्तिगत उपस्थिति अनिवार्य नहीं है। जिससे यह संदेश गया कि अंबानी को अगली सुनवाई में सर्वोच्च न्यायालय में शारीरिक रूप से उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं थी।

इस गलती को याचिकाकर्ता एरिक्सन इंडिया के वकील कोर्ट के संज्ञान में ले आए। जिसके बाद कोर्ट ने 10 जनवरी को अपने आदेश की सही कॉपी वेबसाइट पर अपलोड करवाई जिसमें लिखा था कि अंबानी का कोर्ट में पेश होना अनिवार्य है। जिसके बाद एक जांच शुरू की गई और अदालत ने दो कर्मचारियों को आदेश के साथ छेड़छाड़ का दोषी पाया गया।

‘द टेलिग्राफ’ की रिपोर्ट के मुताबिक, रंजन गोगोई ने संविधान के अनुच्छेद 311 के तहत अपनी अतिरिक्त शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए कोर्ट में कार्यरत दो असिस्टेंट रजिस्ट्रार मानव शर्मा और तपन कुमार चक्रबर्ती को बर्खास्त कर दिया है। दोनों असिस्टेंट रजिस्ट्रार के पद पर कार्यरत थे। कोर्ट मास्टर की ओपन कोर्ट या जजों के चैंबर्स में दिए गए सभी फैसलों को लिखने में भूमिका होती है।

गौरतलब है कि टेलिकॉम कंपनी एरिक्शन ने रिलायंस कम्युनिकेशन द्वारा 550 करोड़ रुपये का भुगतान न करने के बाद अवमानना के मामले में अनिल अंबानी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची है। नए आदेश के बाद, 12 और 13 फरवरी को अनिल अंबानी मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद थे। मंगलवार को वह करीब दो घंटे के लिए अदालत में थे, जबकी बुधवार को लगभग पूरा दिन उन्होंने अदालत में बिताया। इस मामले की जस्टिस आरएफ नरीमन और विनीत सरन की दो सदस्यीय बेंच सुनवाई कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here