नागरिकता कानून के विरोध में दिल्ली में कई जगह प्रदर्शन, 14 मेट्रो स्टेशन बंद, लाल किला के आसपास धारा 144 लागू

0

संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में आज देश भर में धरने-प्रदर्शन हो रहे हैं। देश की राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए गुरुवार को लाल किले के पास धारा 144 (इसके तहत चार से अधिक लोगों का एकत्र होना वर्जित है) लागू कर दी गई है। इन प्रदर्शनों के चलते करीब 14 मेट्रो स्टेशनों को भी बंद कर दिए गए हैं।

दिल्ली
फाइल फोटो : अमर उजाला

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने आज शहर में होने वाले प्रदर्शनों के चलते दिल्ली के कई मेट्रो स्टेशन के निकास और प्रवेश द्वार बंद कर दिए हैं। इन स्टेशनों पर ट्रेन नहीं रुकेगी। इन स्टेशनों के नाम हैं- जामिया मिल्लिया इस्लामिया, जसोला विहार, शाहीन बाग, मुनिर्का, लाल किला, जामा मस्जिद, चांदनी चौक, विश्वविद्यालय, पटेल चौक, लोक कल्याण मार्ग, उद्योग भवन, ITO, प्रगति मैदान और खान मार्केट मेट्रो स्टेशन।

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए लाल किला के आसपास अपराध प्रक्रिया संहिता (CrPC) की धारा 144 (इसके तहत चार से अधिक लोगों का एकत्र होना वर्जित है) लागू कर दी गई है।

दिल्ली पुलिस ने लाल किला से शहीद भगत सिंह पार्क (आईटीओ) तक निकाला जाने वाले विरोध मार्च को भी निकालने की इजाजत नहीं दी है। यह ‘हम भारत के लोग’ के बैनर तले सुबह 11.30 बजे निकाला जाना था। साथ ही दिल्ली पुलिस ने आज दोपहर 12 बजे से होने वाले कम्यूनिस्ट पार्टी के विरोध मार्च को निकालने की इजाजत नहीं दी है। यह मार्च मंडी हाउस से जंतर-मंतर तक निकाला जाना था।

बता दें कि, नागरिकता संशोधन विधेयक के कानून बनने के साथ ही इसके खिलाफ पहले दिन से देश के अलग-अलग हिस्सों में आंदोलन हो रहे हैं। पूर्वोत्तर इलाके में तो इसे लेकर बड़े प्रदर्शन हुए। इसी तरह देश की राजधानी दिल्ली के जामिया विश्वविद्यालय और अलीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों ने इसके खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। अब ये आंदोलन और तेज़ हो गया है और छात्रों के समर्थन में देश के तमाम विश्वविद्यालयों के छात्र-शिक्षक और नागरिक समाज के लोग भी सड़क पर उतर आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here