‘BJP प्रवक्ता का पद आपको कब मिल गया’, जानिए यूजर के इस सवाल पर क्या बोलीं आज तक की एंकर चित्रा त्रिपाठी

0

बिहार में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव होने से पहले ही राज्य का अगला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बजाय भाजपा से होने के पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के जोर देने पर राज्य में सियासत गरमा गई है। इस बीच, बिहार के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को कहा कि प्रदेश में राजग के कप्तान नीतीश कुमार हैं और वे 2020 के विधानसभा चुनाव में भी कप्तान बने रहेंगे।

चित्रा त्रिपाठी

बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार (11 सितंबर) को ट्वीट कर कहा कि बिहार में राजग के “कप्तान” नीतीश कुमार हैं और 2020 के प्रदेश के विधानसभा चुनाव में इस गठबंधन के कप्तान बने रहेंगे। उन्होंने आगे कहा ‘जब कप्तान चौका, छक्का मार रहे हैं और विरोधियों को पारी के साथ पराजित कर रहे हैं, तो ऐसे में किसी भी बदलाव का प्रश्न कहां है’।

बता दें कि, सुशील मोदी की यह टिप्पणी भाजपा के बिहार विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) संजय पासवान द्वारा 2020 के विधानसभा चुनाव बाद नेतृत्व परिवर्तन को लेकर हाल ही में दिए गए बयान के बाद आई है। मुख्यमंत्री पद पर नीतीश कुमार का यह तीसरा कार्यकाल है। मालूम हो कि राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं।

सुशील मोदी के इस बयान पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता व बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, “सुशील मोदी जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के चेहरे पर भी विश्वास नहीं रखते। कहते है विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी के पास स्थापना के 37 वर्ष बाद भी बिहार में कोई योग्य चेहरा नहीं है। हमें नीतीश जी के नाम पर वोट मिलता है। श्री अमित शाह जी, क्या आप स्वीकारते है बीजेपी में टैलेंट का इतना अकाल है?”

तेजस्वी यादव के इस ट्वीट को रिट्वीट करते हुए समाचार चैनल आज तक की एंकर चित्रा त्रिपाठी ने लिखा, “तेजस्वी बीजेपी की JDU से रिश्ता तोड़ना चाहते हैं, ऐसे में RJD फायदे में आ सकती है। वैसे बीजेपी के नेता इसी फेर में हैं कि अगर ग्राउण्ड रिपोर्ट मोदी के नाम पर बिहार जीतने का इशारा दे तो फिर नीतीश के नाम को लेकर पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी। बिहार में बीजेपी इस बार मजबूत है।”

चित्रा त्रिपाठी के इस ट्वीट पर कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी। इस बीच, पीयूष राज नाम के एक ट्विटर यूजर ने पत्रकार से पूछले हुए लिखा, “चित्रा त्रिपाठी, मैडम बीजेपी की प्रवक्ता का पद आपको कब मिल गया।” यूजर के इस सवाल पर आज तक की एंकर ने उसे जवाब भी दिया। यूजर को जवाब देते हुए चित्रा ने लिखा, “भाई पीयूष, इसको खबर का विश्लेषण कहते हैं। प्रवक्ता होना नहीं।”

गौरतलब है कि, संजय पासवान ने हाल ही में अपनी “व्यक्तिगत राय” बताते हुए कहा था कि नीतीश को अपने चौथे कार्यकाल (बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर) के लिए आगे बढने के बजाए केंद्र में अपना योगदान देना चाहिए । उन्होंने बिहार के भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय के अलावा सुशील का नाम संभावित मुख्यमंत्री उम्मीदवारों के रूप में रखा था।

संजय पासवान की टिप्पणी पर नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली जदयू के नेताओं से नाराजगी व्यक्त करते हुए भाजपा आलाकमान से संजय जैसे लोगों पर लगाम लगाने का आग्रह किया था। पासवान के बयान पर जदयू नेताओं ने भी प्रतिक्रिया दी है। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव के सी त्यागी, राज्य के मंत्री और विधानसभा में उप नेता श्याम रजक और प्रदेश प्रवक्ता संजय सिंह ने पासवान की आलोचना की।

उल्लेखनीय है कि, गत 22 जुलाई को बिहार विधानसभा में भी सुशील मोदी ने कहा था कि राजग अगला विधानसभा का चुनाव भी नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही लडेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here