झारखंड में NDA से अलग होने के बाद महाराष्ट्र की स्थिति पर जानिए क्या बोले चिराग पासवान

0

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राजग की घटक लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लेने के बाद महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने को लेकर भाजपा की निंदा की। चिराग पासवान ने मंगलवार को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और कहा कि यह दुखद है कि भाजपा-शिवसेना ने अपनी-अपनी महत्वाकांक्षाओं के लिए सरकार नहीं बनाई।

चिराग पासवान
फाइल फोटो: चिराग पासवान

लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और सांसद चिराग पासवान ने ट्वीट किया, “महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू करना दुर्भाग्यपूर्ण है। लोगों ने राजग को जनादेश दिया था। अपनी अपनी महत्वाकांक्षा के कारण प्रदेश में सरकार न बनने देना दुखद।”

चिराग की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब उनकी पार्टी ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। चिराग पासवान ने पिछले ही सप्ताह पार्टी की कमान अपने पिता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से अपने हाथों में ली है। बता दें कि, वह पिछले कुछ दिनों से भाजपा की आलोचना कर रहे हैं। चिराग पासवान लगातार दो बार से बिहार की जमुई लोकसभा सीट से सांसद हैं।

चिराग ने मंगलवार सुबह स्पष्ट किया कि उनकी पार्टी झारखंड में अकेले चुनाव लड़ेगी और 50 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। पार्टी ने पहले चरण के चुनाव के लिए पांच उम्मीदवारों की बाद में घोषणा भी की।

बता दें कि, महाराष्ट्र में पिछले महीने हुए विधानसभा चुनाव के बाद से सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध के बीच मंगलवार शाम राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here