विधानसभा चुनावों में बीजेपी को मिली हार के बाद चिराग पासवान ने की राहुल गांधी की तारीफ, बीजेपी पर कसा तंज

0

केंद्र सरकार में एनडीए की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के सांसद और रामविलास पासवानके बेटे चिराग पासवान ने बुधवार को तीन राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भगवा पार्टी की हार के लिए धार्मिक ध्रुवीकरण के बीजेपी के एजेंडे को दोषी ठहराया। साथ ही उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ कर बिहार में राजनीतिक हलचल को तेज कर दिया है।

File Photo: Hindustan Times

चिराग पासवान ने बुधवार को राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि उनके अंदर सकारात्मक बदलाव आया है। उन्होंने किसानों और बेरोजगारी के मुद्दे को बढ़िया से उठाया है। उन्होंने कहा, कांग्रेस पार्टी लंबे समय बाद जीती है। अगर आप किसी की आलोचना करते हैं तो आपको उनके अच्छे प्रदर्शन पर उनकी तारीफ भी करनी चाहिए।

चिराग पासवान ने आगे कहा, राहुल गांधी ने मुद्दो को सही ढंग से उठाया। जिस तरह उन्होंने बेरोजगारी और किसानों के मुद्दों को जनता के सामने उठाया, वह अच्छा था। जबकि हम धर्म और मंदिर की बात करते रहे। मैं सरकार से निवेदन करता हूं कि हम लोगों को फिर से अपना फोकस पूरी तरह विकास पर करना चाहिए।

चिराग पासवान ने मंगलवार को ट्वीट करते हुए लिखा था, “टीडीपी व रालोसपा के एनडीए गठबंधन से जाने के बाद एनडीए गठबंधन नाज़ुक मोड़ से गुज़र रहा है। ऐसे समय में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) गठबंधन में फ़िलहाल बचे हुए साथियों की चिंताओं को समय रहते सम्मान पूर्वक तरीक़े से दूर करें।”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भारतीय जनता पार्टी के नेताओ से मुलाक़ात हुई परंतु अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पायी है।इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुक़सान भी हो सकता है।”

बता दें कि इससे पहले चिराग पासवान राज्य में सीटों के बंटवारे को लेकर कोई भी फैसला न होने पर नाराजगी जताई थी। चिराग पासवान के इन ट्वीट से पता चलता है कि राज्य में गठबंधन में कुछ ठीक नहीं चल रहा है। आरएलएसपी का एनडीए से नाता तोड़ने के बाद चिराग के इस बयान के भी राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं।

बता दें कि सीटों के बंटवारे पर नाराज चल रहे उपेंद्र कुशवाहा ने कुछ दिनों पहले ही एनडीए का साथ छोड़ दिया है। अब ऐसे में अगर एलजेपी भी अगर एनडीए का साथ छोड़ती है तो बीजेपी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनाव बिहार में बीजेपी, एलजेपी और उपेंद्र कुशवाहा की आरएलएसपी मिलकर चुनाव लड़े थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here