दिल्ली सरकार ने चीनी मांझा पर प्रतिबंध लगाया

0

राष्ट्रीय राजधानी में चीनी मांझा से दो बच्चों और एक युवक की दर्दनाक मौत के एक दिन बाद दिल्ली सरकार ने आज कांच मिले मांझा या चीनी मांझा की बिक्री, उत्पादन एवं भंडारण पर रोक लगा दी जबकि इसे लेकर आरोपों का दौर भी शुरू हो गया। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि अधिसूचना को मंजूरी देने में पर्यावरण सचिव ने सात दिनों का समय लगा दिया।

Also Read:  जम्मू कश्मीर में सरकार ने थमाई प्रतिबंधों की लिस्ट, शादी-ब्याह में मेहमानों की संख्या पर भी पाबंदी

MANJA_2667855f

पर्यावरण सचिव चन्द्राकर भारती द्वारा जारी मसौदा अधिसूचना के अनुसार सिर्फ धातु या शीशे से मुक्त कपास के बने धागे और प्राकृतिक धागे से पतंग उड़ाने की इजाजत होगी।

मसौदा अधिसूचना के अनुसार निर्देशों के उल्लंघन पर पांच साल तक की कैद की सजा या एक लाख रूपये तक के जुर्माने या दोनों का प्रावधान होगा।

बहरहाल, एलजी कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि उपराज्यपाल ने मसौदा अधिसूचना को आठ अगस्त को ही स्वीकृति दे दी थी और उसे अगले दिन सरकार को भेज दिया था।

Also Read:  आर्मी चीफ ने सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले जवानों को दी चेतावनी कहा, ऐसा करने पर हो सकते हैं सज़ा के हकदार

एलजी कार्यालय के सूत्रों ने आरोप लगाया कि दिल्ली की आप सरकार ने मसौदा अधिसूचना जारी करने में देर की। सूत्रों ने कहा कि अधिसूचना का अधिक प्रभाव इसलिए नहीं पड़ा क्योंकि स्वाधीनता दिवस के साथ ही पतंग उड़ाने का मौसम लगभग समाप्त हो जाता है।

सिसोदिया ने कहा कि वह उपराज्यपाल नजीब जंग को लिखकर पर्यावरण सचिव के खिलाफ कर्तव्य निर्वहण में घोर लापरवाही तथा चीनी मांझा मामले में असंवेदनशीलता दिखाने पर उन पर कार्रवाई के लिए कहेंगे।

Also Read:  नोटबंदी: नकदी की समस्या से परेशान लोग, मांग की तुलना में आपूर्ति कम

उप मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘पर्यावरण सचिव ने अधिसूचना जारी करने में सात दिन लगा दिये जबकि मेरे एवं पर्यावरण मंत्री के कार्यालय ने नौ अगस्त को मिनटों में इस फाइल को मंजूरी दे दी थी।’’ जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here