चीन ने लॉन्च किया अब तक का सबसे लंबा मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान

0
>

चीन ने अपने अब तक के सबसे लंबे मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान के तहत दो अंतरिक्ष यात्रियों को साथ ले जा रहे एक अंतरिक्ष यान का आज सफल प्रक्षेपण किया जो बाद में पृथ्वी की परिक्रमा कर रही चीन की प्रायोगिक अंतरिक्ष प्रयोगशाला में मिलेगा। इस प्रक्षेपण के साथ ही चीन साल 2022 तक अपना स्थायी अंतरिक्ष स्टेशन स्थापित करने के लक्ष्य के एक कदम करीब पहुंच गया।

‘शेनझोउ-11’ अंतरिक्ष यान में सवार चीन के अंतरिक्ष यात्रियों जिंग हाइपेंग और चेन दोंग ने चीन में गोबी रेगिस्तान के पास जियुक्वान उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से स्थानीय समयानुसार साढ़े सात बजे (भारतीय समयानुसार सुबह पांच बजे) अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी। प्रक्षेपण के बाद ‘लॉन्ग मार्च-2 एफ’ वाहक रॉकेट शेनझोउ 11 को कक्षा में लेकर गया। सरकारी ‘चाइना सेंट्रल टेलीविजन’ (सीसीटीवी) ने इस प्रक्षेपण का सीधा प्रसारण किया।

Also Read:  China successfully launches longest manned space mission

Shenzhou-11 manned spacecraft carrying astronauts Jing Haipeng and Chen Dong blasts off from the launchpad  in Jiuquan

चीन के मानवयुक्त अंतरिक्ष इंजीनियरिंग कार्यालय की उपनिदेशक वु पिंग ने बताया कि यह यान दो दिन में पृथ्वी की परिक्रमा कर रही तियानगोंग-2 अंतरिक्ष प्रयोगशाला से मिल जायेगा और दोनों अंतरिक्षयात्री 30 दिन तक प्रयोगशाला में रहेंगे।

यह जिंग की तीसरी अंतरिक्ष उड़ान है जबकि चेन पहली बार अंतरिक्ष अभियान पर गए हैं। इससे पहले चीनी अंतरिक्षयात्री कभी इतने लंबे समय तक अंतरिक्ष में नहीं रुके। इस अभियान के दौरान दोनों अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्षयान संबंधी तकनीकों का परीक्षण करेंगे और वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग प्रयोग करेंगे। सरकारी संवाद समिति शिंहुआ ने बताया कि प्रक्षेपण के करीब 19 मिनट बाद चीन के मानवयुक्त अंतरिक्ष कार्यक्रम के कमांडर इन चीफ झांग यूशिया ने इस अभियान को सफल करार दिया।

Also Read:  नोटबंदी के फैसले से पहले ही सितंबर में बैंकों में जमा हो गई थी 102 लाख करोड़ रुपये की रकम, देखिए चौंकाने वाले आंकड़े

भाषा की खबर के अनुसार, ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए इस समय गोवा में मौजूद चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अभियान में शामिल सभी लोगों को इस सफल प्रक्षेपण के लिए बधाई दी और कहा कि यह चीन के अंतरिक्ष कार्यक्रम में एक मील का पत्थर है।

सेंट्रल मिल्रिटी कमीशन (सीएमसी) के अध्यक्ष और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) की सेंट्रल कमेटी के महासचिव शी ने कहा कि परिक्रमा कर रही अंतरिक्ष प्रयोगशाला तियानगोंग-2 और शेनझोउ 11 मानवयुक्त अंतरिक्षयान पहला ऐसा अभियान है जिसके तहत चीनी अंतरिक्षयात्री मध्यम अवधि के लिए कक्ष में रकेंगे।

Also Read:  दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव का कर्मचारियों पर कड़ा रूख, सुबह 9:45 तक कार्यालय आने का हुक्म

शी ने अपने संदेश में अभियान के स्टाफ को ‘मानवयुक्त अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए लगातार नवोन्मेष करते रहने के लिए’ प्रोत्साहित किया ताकि चीन के लोग चीन को एक अंतरिक्ष शक्ति बनाने में योगदान करते हुए बड़े कदम उठाएं और अंतरिक्ष परीक्षण में आगे बढ़ सकें। प्रधानमंत्री ली क्विंग और उनके साथ लियु युनशान ने बीजिंग में चीन के मानवयुक्त अंतरिक्ष कार्यक्रम के कमान केंद्र में प्रक्षेपण का सीधा प्रसारण देखा। प्रधानमंत्री ली और लियु सीपीसी सेंट्रल कमेटी के राजनीतिक ब्यूरो की स्थायी समिति के सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here