छत्तीसगढ़ के मंत्री के सेक्स सीडी कांड की होगी CBI जांच, कांग्रेस ने मंत्री राजेश मूणत का मांगा इस्तीफा

0

छत्तीसगढ़ सरकार राज्य के मंत्री राजेश मूणत की कथित सेक्स सीडी मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश करेगी। मुख्यमंत्री रमन सिंह की अध्यक्षता में शनिवार (28 अक्टूबर) को कैबिनेट बैठक में यह फैसला हुआ। बता दें कि छत्तीसगढ़ एटीएस ने इसी मामले में ब्लैकमेलिंग और उगाही के आरोप में वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को गाजियाबाद के इंदिरापुरम इलाके से शुक्रवार तड़के गिरफ्तार किया था।

(Sakib Ali /HT Photo)

एटीएस ने सीडी को पॉर्न बताकर कहा कि पत्रकार ब्लैकमेलिंग कर रहे थे। वहीं पत्रकार विनोद वर्मा ने कहा कि उनके पास मंत्री मूणत की सेक्स सीडी है, इसलिए उन्हें इस मामले में फंसाया जा रहा है। राज्य के राजस्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय ने सीडी को फर्जी बताते हुए कहा कि इसे बनाने में अंतरराज्यीय साजिश रची गई है। सीडी का उच्च स्तरीय तकनीकी परीक्षण आवश्यक है। फर्जी सीडी बनाने में पैसे का लेनदेन भी हुआ होगा, जिसकी जांच आवश्यक है।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस इस षड्यंत्र में शामिल है। यह राजनीतिक आपराधिक साजिश का मुद्दा भी बन सकता है। इसीलिए जांच सीबीआई से कराई जाएगी। इस बीच, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बेल और विनोद वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। बेल ने कहा है कि मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में होनी चाहिए।

इस बीच गिरफ्तार हुए पत्रकार विनोद वर्मा और छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है। दोनों के खिलाफ आईटी ऐक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज हुई है। रायपुर के एसपी विजय अग्रवाल ने कहा कि आईटी एक्ट की कई धाराओं में विनोद वर्मा और भूपेश बघेल के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

कांग्रेस ने मंत्री राजेश मूणत का मांगा इस्तीफा

मूणत की कथित अश्लील सीडी सामने आने के बाद राज्य की राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस ने मंत्री राजेश मूणत के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि इस मामले में पकड़े गए वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की तुरंत रिहा होनी चाहिए। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि 2005 में जब बीजेपी-संघ नेता संजय जोशी की ऐसी ही एक विवादित सीडी सामने आई थी तो तत्लाकीन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोशी का इस्तीफा लेने का दबाव बनाया था। कांग्रेस ने कहा कि क्या पीएम मोदी अब छत्तीसगढ़ के अपने मंत्री मूणत से इस्तीफा लेंगे?

कांग्रेस ने देश के विभिन्न हिस्सों में पत्रकारों पर बढ़ते हमलों पर गहरी चिंता जताते हुए पत्रकार विनोद वर्मा की तुरंत रिहाई और इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की। खेड़ा ने कहा कि पत्रकार विनोद वर्मा न केवल एडीटर्स गिल्ट आफ इंडिया के सदस्य थे, बल्कि इस संस्था की उस तथ्यान्वेषी समिति के भी सदस्य थे जो पत्रकारों की सुरक्षा के बारे में पता लगाने के लिए छत्तीसगढ़ गई थी।

क्या है मामला?

बीबीसी और अमर उजाला में वरिष्ठ पदों पर रह चुके पत्रकार विनोद वर्मा को कथित उगाही के आरोप में छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार (27 अक्टूबर) तड़के उनके गाजियाबाद स्थित आवास से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि कम से कम 500 पोर्न सीडी, दो लाख रुपए नकद, लैपटॉप और एक डायरी पत्रकार के घर से बरामद की गई है।

वहीं गिरफ्तारी के बाद पत्रकार विनोद वर्मा ने कहा कि उनके पास छत्तीसगढ़ के मंत्री राजेश मूणत के कथित सेक्स स्कैंडल की सीडी है, इसलिए सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है।

वर्मा को गिरफ्तार करने के बाद उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) अर्चना के सामने पेश किया गया, जिन्होंने उनकी जमानत याचिका नामंजूर कर दी और उन्हें 30 अक्तूबर तक ट्रांजिट रिमांड पर छत्तीसगढ़ पुलिस को सौंप दिया।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here