#GoBackModi अभियान के बीच गाने में ‘मोदी’ नाम इस्तेमाल करने पर चेन्नई पुलिस ने रोका कॉन्सर्ट

0

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार (27 जनवरी) को तमिलनाडु के मदुरै में एम्स (AIIMS) की आधारशिला रखी। इसके बाद पीएम मोदी ने कहा कि एनडीए सरकार स्वास्थ्य क्षेत्र को बहुत प्राथमिकता दे रही है ताकि सभी लोग स्वस्थ रहें और स्वास्थ्य देखभाल सस्ती हों। आज मैं मदुरै, तंजावुर और तिरुनेलवेली में सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों का उद्घाटन करने के लिए खुश हूं। इस दौरान आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (BJP) का अभियान शुरू करते हुए एक रैली को भी संबोधित किया। कहा जा रहा है कि पीएम दक्षिण भारत से बीजेपी के चुनाव अभियान का शंखनाद किया।

हालांकि, तमिलनाडु दौरे से पहले ही बीजेपी और पीएम मोदी की सोशल मीडिया पर किरकिरी हो गई। रविवार को प्रधानमंत्री मोदी के मदुरै में एम्स अस्पताल की आधारशीला कार्यक्रम से पहले ही सुबह से टि्वटर पर ‘गो बैक मोदी’ (#GoBackModi) ट्रेंड करने लगा। इस ट्रेंडिंग की वजह से बीजेपी को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। ट्विटर पर अधिकांश ट्वीट को कार्टून के साथ दर्शाया गया था, जिसमें पेरियार को यह कहते हुए दिखाया गया है- ‘गो बैक मोदी’।

मोदी के खिलाफ गुस्सा ट्विटर तक ही सीमित नहीं रहा। चेन्नई पुलिस ने शाम को एक स्थानीय बैंड के सदस्यों को एक गीत को पेश करने से रोक दिया जिसमे कहा गया था कि मोदी एक धोखा था। एक पत्रकार के मुताबिक, बैंड शाम को चेन्नई में ‘मोदी मस्तान’ नामक गीत प्रस्तुत कर रहा था, तभी वहां पुलिस आई और उन्होंने गाने में ‘मोदी’ नाम का जिक्र करने पर आपत्ति दर्ज कराते हुए बंद करवा दिया।

आयोजकों में से एक सदस्य ने ट्वीट कर बताया कि विशेष रूप से बैंड के सदस्यों द्वारा प्रस्तुत की जा रही गीत में ‘मोदी’ शब्द के जिक्र को लेकर आपत्ति थी। आयोजकों के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि आप मोदी के बारे में नहीं गा सकते हैं। तो उन्होंने कहा कि ललित मोदी और नीरव मोदी भी हो सकता। किस मोदी ने देश को बेचा है?

न्यूज़मीन्ट वेबसाइट के मुताबिक इस मामले पर सब-इंस्पेक्टर ए सेल्वाकुमार ने कहा कि आयोजकों द्वारा इस कार्यक्रम को एक सांस्कृतिक कार्यक्रम बताकर अनुमित ली गई थी। दरअसल, रविवार को तमिलनाडु दौरे के दौरान पीएम मोदी का काफी विरोध का सामना करना पड़ा। पार्टी प्रमुख वाइको के नेतृत्व में एमडीएमके के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री के खिलाफ काले झंडे दिखाकर प्रदर्शन किया और उन पर तमिलनाडु के हितों के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया।

पार्टी कार्यकर्ताओं ने काले रंग के गुब्बारे छोड़ने के अलावा मोदी विरोधी नारे लगाए और उन पर कावेरी एवं अन्य मुद्दों पर तमिलनाडु के हितों के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया। इस प्रदर्शन और हिरासत की कार्रवाई के करीब 30 मिनट बाद प्रधानमंत्री यहां हवाई अड्डे पर पहुंचे। प्रधानमंत्री ने नजदीक में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) का शिलान्यास किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here