“ओ विकास मैं सोच रहा था, पेट्रोल पंप का नाम बदलकर ‘प्रधानमंत्री वसूली केंद्र’ रखे तो कैसा रहेगा!”

0

गुजरात में पाटीदार समाज के नेता हार्दिक पटेल के अनशन का आज 18वां दिन है। इसी बीच हार्दिक ने देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। साथ ही हार्दिक ने कहा कि भारत बंद जनता के कष्ट से बेखबर आत्ममुग्ध मोदी सरकार को जगाने के लिए हैं।

पेट्रोल

हार्दिक पटेल ने कांग्रेस के द्वारा सोमवार(10 सितंबर) को बुलाएं गए ‘भारत बंद’ का समर्थन कर ट्वीट करते हुए लिखा, “भारत बंद जनता के कष्ट से बेखबर आत्ममुग्ध मोदी सरकार को जगाने के लिए हैं।” एक अन्य ट्वीट में हार्दिक ने यूपीए सरकार के दौरान डॉलर और तेल की कीमतों की मोदी सरकार के कार्यकाल से तुलना की।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “कच्चे तेल की कीमत जुलाई 2008 में 132 डॉलर, दिल्ली में तेल की भाव 50.62 रुपये प्रति लीटर। कच्चे तेल की कीमत जनवरी 2016 में सिर्फ 30.5 डॉलर, दिल्ली में तेल का भाव 59.99 रुपये प्रति लीटर। यानी कच्चे तेल की कीमत 132 से 30.5 डॉलर, कुल 75% गिरी, लेकिन कीमत 18% बढ़ी।”

एक अन्य ट्वीट में हार्दिक ने देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा, “ओ विकास मैं सोच रहा था, पेट्रोल पंप का नाम बदलकर “प्रधानमंत्री वसूली केंद्र” रखे तो कैसा रहेगा!”

बता दें कि हार्दिक पटेल को भूख हड़ताल पर बैठे मंगलवार(11 सितंबर) को 18 दिन हो गए। हार्दिक की तबीयत शुक्रवार को बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दो दिन बाद वह अपने घर लौट आए और उन्होंने भूख हड़ताल को जारी रखा। वह अपने समुदाय के लिए आरक्षण और किसानों की कर्ज माफी की मांग को लेकर अनशन पर बैठे हुए हैं।

पाटीदार समाज के नेता हार्दिक पटेल 25 अगस्त से पाटीदार (पटेल) समुदाय को नौकरी और शिक्षा में आरक्षण देने और गुजरात के किसानों का कर्ज माफ करने की मांग करते हुए शहर के बाहरी क्षेत्र स्थित अपने घर पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हैं।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here